अभिनंदन की रिहाई के बाद इन जवानों के परिवारों को जगी उनके वापस लौटने की उम्मीद

0
360
views

पाकिस्तान की तरफ से विंग कमांडर अभिनंदन को रिहा करने के बाद कई ऐसे जवानों के परिवारों में उम्मीद जागी है, जिनके अपने दशकों से पाकिस्तान की जेलों में बंद है. जालंधर के मंगल सिंह का परिवार भी इन्हीं में से एक है.

परिवार वालों का कहना है कि मंगल सिंह सेना की 14 सिख रेजिंमेंट में शामिल थे. 1971 की जंग में बांग्लादेश से लापता हुए थे. परिवार वालों ने बताया कि फिलहाल मंगल सिंह पाकिस्तान की कोट लखपत जेल में बंद हैं. जिनकी रिहाई की मांग वो दशकों से करते आ रहे हैं, लेकिन अभी तक उनकी मांग नहीं सुनी गई. उन्होंने कहा कि अब विंग कमांडर अभिनंदन की रिहाई के बाद उन्हें भी मंगल सिंह के वापस लौटने की उम्मीद है.

बता दें कि भारतीय वायुसेना की एयर स्ट्राइक के बाद बौखलाए पाकिस्तान ने सीमा उल्लंघन किया था. उसके कई विमान भारतीय सीमा में घुस आए थे. इस दौरान कार्रवाई करते हुए विंग कमांडर अभिनंदन ने पाकिस्तान के F16 विमान को गिरा दिया था. हालांकि उनका विमान MiG-21 भी क्रैश हो गय था, जोकि पाकिस्तान की सीमा में जाकर गिरा. इसके बाद पाकिस्तानी सेना ने अभिनंदन को अपनी हिरासत में ले लिया था. लेकिन बाद में अभिनंदन को वाघा-अटारी बॉर्डर के रास्ते पाकिस्तान ने भारत को सौंप दिया था.