अयोध्या मामले पर शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होगी

0
247
views

सुप्रीम कोर्ट में शुक्रवार को अयोध्या राम जन्मभूमि मामले की सुनवाई होगी. पाँच न्यायाधीशों की संविधान पीठ मामले की सुनवाई करेगी. पिछली सुनवाई में कोर्ट ने मामले को मध्यस्थता के ज़रिए सुलझाने के लिए भेजा था. कोर्ट ने रिटायर्ड जज की अध्यक्षता मे तीन सदस्यीय मध्यस्थता पैनल गठित किया था. कल पता चलेगा कि मध्यस्थता मे क्या हुआ.

मध्‍यस्‍थता की पहल 
सुप्रीम कोर्ट की पांच न्यायाधीशों की संविधानपीठ ने राम जन्मभूमि विवाद का बातचीत के जरिये आपसी सहमति से हल निकालने के लिए गत 1 मार्च को मामला मध्यस्थता को भेज दिया था। कोर्ट ने तीन सदस्यों का मध्यस्थता पैनल बनाया था जिसमें सुप्रीम कोर्ट के सेवानिवृत न्यायाधीश एफएम इब्राहिम कलीफुल्ला को अध्यक्ष व आध्यात्मिक गुरू श्री श्री रविशंकर व वरिष्ठ वकील श्रीराम पंचू को सदस्य नियुक्त किया था. कोर्ट ने आठ सप्ताह में मध्यस्थता के जरिए सुलह के रास्ते तलाशने को कहा था.

क्या है मामला
2010 में इलाहाबाद हाईकोर्ट ने अयोध्या में रामजन्म भूमि को रामलला, निर्मोही अखाड़ा और सुन्नी सेन्ट्रल वक्फ बोर्ड के बीच तीन बराबर के हिस्सों में बांटने का आदेश दिया था.  इस फैसले को सभी पक्षों ने 14 अपीलों के जरिये सुप्रीम कोर्ट मे चुनौती दी है.  सुप्रीम कोर्ट के आदेश से फिलहाल मामले में यथास्थिति कायम है.