इंडोनेशिया में ज्वालामुखी फटने के बाद आई सुनामी से भारी तबाही, अब तक 168 लोगों की मौत

0
441
views

इंडोनेशिया में ज्वालामुखी फटने के बाद सुनामी ने भारी तबाही मचाई है. इस सुनामी की वजह से अब तक करीब 168 लोगों की मौत हो गई है, जबकि 600 से ज्यादा लोग जख्मी हो गए हैं. मौत का आंकड़ा अभी बढ़ सकता है. फिलहाल राहत और बचाव एजेंसियां रेस्क्यू ऑपरेशन में जुटी हुई हैं.

समाचार एजेंसियों के मुताबिक, शनिवार देर रात क्रैकटो ज्वालामुखी के ‘चाइल्ड’ कहने जाने वाले अनक ज्वालामुखी के फटने से यह सुनामी आई है. ऊंची लहरों ने तटीय इलाकों पैंनदेंगलैंग, सेरांग, और दक्षिण लाम्पुंग को अपनी चपेट में ले लिया. दक्षिणी सुमात्रा के किनारे स्थित कई इमारतें तबाह हो गईं. चश्मदीदों के मुताबिक समुद्र से 15 से 20 मीटर ऊंची लहरें उठती देखी गई हैं.

इंडोनेशिया के नेशनल डिजास्टर एजेंसी के प्रवक्ता सुतोपो पुर्वो नुग्रोहो ने बताया कि सुनामी स्थानीय समयानुसार शनिवार रात करीब 9:30 बजे आई. जियोलॉजिकल एजेंसी सुनामी की वजहों का पता लगाने में जुट गई है. मौतों का आंकड़ा बढ़ सकता है.

अनक क्राकातोआ एक छोटा ज्वालामुखी द्वीप है. यह 1883 में क्राकातोआ ज्वालामुखी के फटने के बाद अस्तित्व में आया था. वैज्ञानिकों के अनुसार, इस द्वीप का निर्माण क्रैकटो ज्‍वालामुखी के लावा से हुआ है. इस ज्‍वालामुखी में आखिरी बार अक्‍टूबर में विस्‍फोट हुआ था.

बता दें कि इसी साल सितंबर में इंडोनेशिया के सुलवेसू द्वीप स्थित पालु और दोंगला शहर में सुनामी की तबाही में 800 से ज्यादा लोग मारे गए थे. हजारों लोग घायल हुए थे. कुल 6 लाख की आबादी वाले इन दोनों शहरों में आपदा के तीन महीने बाद भी हालात सामान्य नहीं हो पाए हैं.