इनेलो और BSP के रिश्तों में आई खटास

0
207
views

हरियाणा में राजनीतिक दलों के बीच खूब गठबंधन हुए और गठबंधन की सरकारें भी बनीं, लेकिन ये रिश्‍ते अधिक समय नहीं चले। हरियाणा में गठबंधन की राजनीति ज्यादा दिन न तो कभी सिरे चढ़ पाई और न ही गठबंधन के बिना राजनीतिक दलों का काम चल सका। हरियाणा बनने के बाद से ही प्रदेश में जोड़तोड़ की राजनीति शुरू हो गई थी। 53 साल बाद भी गठजोड़ और जोड़तोड़ की राजनीति का असर प्रदेश में कम नहीं हो पाया है। तमाम तरह के कड़वे अनुभवों के बावजूद राजनीतिक दल एक दूसरे पर भरोसा करने की मजबूरी में उलझे हुए हैं

इनेलो-बसपा की दोस्ती में दरार इसका ताजा उदाहरण है। पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला के परिवार में राजनीतिक कलह और जींद उपचुनाव के नतीजों के बाद बसपा सुप्रीमो मायावती ने इनेलो के साथ अपने राजनीतिक रिश्ते खत्म करने के संकेत दे दिए हैं। इसकी औपचारिक घोषणा होनी बाकी है। बसपा और इनेलो अब अपने नए राजनीतिक सहयोगियों की तलाश में हैं।