उड़ते प्लेन में अचानक आग लगने से की गई इमरजेंसी लैंडिंग, 41 लोगों की जलकर मौत हुई

0
78
views

रूस की एयरोफ्लोट एयरलाइन के सुखोई सुपरजेट यात्री विमान ने 5 मई रविवार के दिन मॉस्को एयरपोर्ट से उत्तरी रूस के मरमांस्क शहर के लिए शाम 6 बजकर 2 मिनट पर उड़ान भरी थी. मगर उड़ान भरने के कुछ देर बाद ही उसमें आग लग गई. जलते हुए विमान के पायलट ने मॉस्को के शेरेमेटयेवो एयरपोर्ट पर इमरजेंसी लैंडिंग की. लेकिन तब तक आग अपना काम कर चुकी थी और पीछे के आधे से ज़्यादा हिस्से तक आग फैल चुकी थी.

हवा में जलते इस आग के गोले की जब क्रैश लैंडिंग हुई तो मॉस्को के एयरपोर्ट पर विमान में विस्फोट हो गया. इसके बाद जो कुछ हुआ वो आपके सामने है. हादसे के वक्त एयरपोर्ट पर मौजूद स्टाफ के अलग अलग लोगों ने कई एंगल से इस हादसे की तस्वीरें अपने-अपने कैमरे में रिकॉर्ड की. मगर हर कैमरे में सिर्फ एक ही चीज़ नज़र आई. आग की लपटें और काला धुआं. ये मंजर काफी डराने वाला था.

पायलट ने आग लगने की खबर मॉस्को के शेरेमेटयेवो एयरपोर्ट के एटीसी को दे दी थी. लिहाज़ा आग बुझाने वाली गाड़ियों का पूरा अमला रन-वे के नज़दीक ही खड़ा था. मगर जब उन्होंने ने भी बादलों को चीरते हुए आग की लपटों में लपटे एयरोफ्लोट के इस यात्री विमान को देखा तो उनके होश उड़ गए. ऐसा लग रहा था जैसे कोई आग का गोला आसमान से ज़मीन पर उतर रहा हो. हालांकि इसे पायलट की होशियारी कहा जाएगा कि उसने वक्त रहते विमान की लैंडिंग करा दी और विमान में मौजूद 78 में से 37 लोगों की जान बचाई जा सकी.