कांगड़ा : नौकरी के लिए विदेश भेजने के नाम पर 45 लाख रुपये ठगे

0
148
views

नौकरी के लिए विदेश भेजने के झांसे में आकर हमीरपुर जिला के भोरंज व बड़सर मंडल के करीब 12 युवा ठगी का शिकार हुए हैं। विदेश जाने की लालसा में इन युवाओं ने करीब 45 लाख रुपये गंवा दिए। इस बावत भोरंज थाना में ठगी के आरोपित के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। भोरंज पुलिस शिकायतकर्ता और एक अन्य व्यक्ति से पूछताछ कर चुकी है। यह घटना आठ माह पूर्व अक्टूबर 2018 की है।

भोरंज उपमंडल भौंखर पंचायत के खुथड़ी निवासी विरेंद्र कुमार के पास बिलासपुर जिला के कोटधार निवासी लेखराम आया करता था। ऐसे में लेख राम ने विरेंद्र से विदेश भेजने के लिए युवाओं की बात की।

विरेंद्र ने सबसे पहले अपने छोटे भाई परविंद्र को विदेश भेजने के लिए पैसे दिए। उसके बाद कई अन्य युवा रिश्तेदारी में भी इस कड़ी के साथ जुड़ते गए। भोरंज और बड़सर उपमंडल के 12 युवाओं ने एक-एक करके करीब 45 लाख रुपये राजा नाहर सिंह के पास जमा करवाए। इसके बाद इन युवाओं से मेडिकल इंश्योरेंस के भी 31-31 हजार रुपये लिए गए। नाहर ङ्क्षसह के आधार कार्ड पर जालंधर का स्थाई पता लिखा गया था। बाद में विदेश न भेजने के बाद युवाओं ने पता किया तो ठग का आधार कार्ड फर्जी निकला।

हालांकि युवाओं को विदेश भेजने वाले का मोबाइल फोन पर भी संर्पक होता रहा। आठ माह तक कुछ न होने पर खुथड़ी निवासी विरेंद्र ने भोरंज थाना में शिकायत दी। भोरंज पुलिस ने मामला दर्ज करने से पहले विरेंद्र और बिलासपुर जिला के कोटधार निवासी लेखराम से भी पूछताछ की है।  भोरंज थाना प्रभारी कुलवंत सिंह का कहना है कि पुलिस ने राजा नाहर ङ्क्षसह के खिलाफ ठगी मामला दर्ज करके छानबीन शुरू कर दी है। मामले की गहनता से जांच जारी है।