गठबंधन पर इनेलो की हां, अनिल जैन ने कहा ना

0
70
views

इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) ने एक बार फिर लोकसभा चुनाव में भाजपा से गठबंधन के संकेत दिए हैं। लोकसभा चुनाव की रणनीति बनाने के लिए इनेलो की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की झज्जर में हुई बैठक में कर्ण चौटाला ने पार्टी सुप्रीमो ओमप्रकाश चौटाला की चिट्ठी पढ़कर सुनाई। पत्र में ओमप्रकाश चौटाला ने पूछा कि क्या हरे और भगवा रंग को एक हो जाना चाहिए। दूसरी ओर, नई दिल्‍ली में हरियाणा भाजपा के प्रभारी डाॅ. अनिल जोशी ने कहा कि पार्टी हरियाणा में किसी पार्टी से गठजोड़ नहीं करेगी

बाद में इनेलो नेता व हरियाणा विधानसभा में नेता विपक्ष अभय सिंह चौटाला ने कहा कि राजनीति में हालात बदलते रहते हैं और 15 अप्रैल को इनेलो सुप्रीमो ओमप्रकाश चौटाला के जेल से आने के बाद हालात बदल जाएंगे। पार्टी छोडऩे वाले दोबारा आने के लिए नाक रगड़ेंगे.

राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में अभय सिंह चौटाला ने कहा कि सोशल मीडिया इनेलो का भाजपा के साथ गठबंधन करा रहा है और खुद ही सीटों व उम्मीदवारों के नाम भी तय कर रहा है. उन्होंने कहा कि अभी तक गठबंधन को लेकर उनकी किसी के साथ मीटिंग नहीं हुई है. मीटिंग होने के बाद वे सोशल मीडिया पर नहीं मीडिया के सामने आकर बताएंगे.

जेजेपी के चुनाव चिह्न को चौधरी देवीलाल के खड़ाऊ बताने पर उन्होंने कहा कि चौ. देवीलाल सफेद जूती और जुराब पहनते थे। वह त्याग की मूर्ति थे। सत्ता के स्वार्थ की राजनीति उन्होंने कभी नहीं की। दुष्यंत चौटाला और उनके समर्थकों पर निशाना साधते हुए अभय ने कहा कि वे कांग्रेस के हाथों में खेल रहे हैं और जो लोग कांग्रेस व आप के साथ समझौते की बात कह रहे हैं  वे एक सीट पर ही दांव लगाना चाहते हैं। उस एक सीट पर भी फार्म भर दिया तो लोग तसल्ली से उनका इलाज करेंगे.

उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव में कार्यकत्र्ताओं की मेहनत से ज्यादा सीटें जीतेंगे तो विधानसभा चुनाव में इनेलो सत्ता में आएगा। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि कांग्रेस को सत्ता में आने से रोकना होगा, क्योंकि जब भी कांग्रेस का राज आया हरियाणा का किसान बर्बाद हुआ है.