चंद्रयान के बाद सूर्य और मंगल की बैरी, स्पेस में जाएगी भारतीय अंतरिक्ष यात्रियों की सवारी

0
173
views

भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी इसरो (ISRO) अपने दूसरे मून मिशन चंद्रयान-2 की लॉन्च के बाद शांत नहीं बैठने वाली है. अगले 5 से 7 सालों के अंदर वह ऐसे मिशन करेगी जो भारत को अंतरिक्ष विज्ञान के क्षेत्र में दुनिया का सबसे अग्रणी देश बना देगा. इससे दुनियाभर में इसरो और भारत के स्पेस प्रोग्राम को लेकर मौजूद भरोसा और मजबूत हो जाएगा. साथ ही भारत की स्पेस टेक्नोलॉजी संबंधी क्षमताओं में कई गुना इजाफा होगा. आइए जानते हैं इसरो के भविष्य के उन अंतरिक्ष अभियानों के बारे में जो देश का नाम बढ़ाने वाले हैं…

एक इंटरव्यू में इसरो चीफ डॉ. कैलाशावादिवू सिवन ने कहा था कि चंद्रमा पर चंद्रयान-2 के बाद हम एक और यान भेजेंगे. तीसरा चंद्र मिशन 2020 के अंत तक पूरा होगा. उम्मीद जताई जा रही है कि तीसरे मून मिशन में भारतीय रोबोट को चांद की सतह पर उतारेगा. जो वहां जाकर विभिन्न प्रकार के जांच करेगा.