नागरिकता संशोधन बिल के विरोध में भूपेन हजारिका का परिवार लौटाएगा ‘भारत रत्न’

0
164
views

नागरिक संशोधन बिल के खिलाफ पूर्वोत्तर राज्यों में लोगों का बड़ा तबका प्रदर्शन कर रहा है. इस बीच बिल के विरोध में दिवंगत गायक और संगीतकार भूपेन हजारिका के परिवार ने देश का सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न सम्मान लौटाने का बड़ा फैसला लिया है.

भूपेन हजारिका के बेटे तेज हजारिका ने कहा, ‘हम भारत रत्न का सम्मान स्वीकार नहीं करेंगे और नागरिक संशोधन बिल के विरोध में अवॉर्ड को वापस लौटाएंगे.’ हालांकि इस फैसले पर भूपेन हजारिका के परिवार में ही एक राय नहीं दिख रही है. भूपेन हजारिका के भाई समर हजारिका ने भारत रत्न सम्मान को असम के लिए गौरव बताया है.

बता दें कि इस साल 25 जनवरी को मोदी सरकार ने भूपेन हजारिका को भारत रत्न से सम्मानित करने का ऐलान किया था. भूपेन हजारिका को देश के इस सबसे बड़े पुरस्कार के अलावा पद्म भूषण, दादा साहेब फाल्के पुरस्कार और संगीत नाटक अकादमी रत्न का सम्मान भी मिल चुका है.