पंजाब CM से मुलाकात के बाद बोले गृहमंत्री अमित शाह- नशे पर केंद्र सरकार बना रही है बड़ी रणनीति

0
356
views

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा है कि पंजाब व जम्मू-कश्मीर में ड्रग की समस्या से निपटने के लिए केंद्र व्यापक रणनीति तैयार कर रहा है। उन्होंने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को यह जानकारी दी है। कैप्टन ने दिल्ली में शाह से मुलाकात कर ड्रग्स की समस्या से निपटने के लिए नेशनल ड्रग्स पॉलिसी बनाने की मांग को दोहराई थी। मुख्यमंत्री ने केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान, हरदीप पुरी और नितिन गडकरी से भी मुलाकात की।

मुख्यमंत्री ने शाह से पंजाब में हो चुकी आतंकी घटनाओं के मद्देनजर पठानकोट में एनएसजी (नेशनल सिक्योरिटी गार्ड) का एक सेंटर स्थापित करने की भी मांग की। पंजाब के ड्रग्स विरोधी अभियान को केंद्र सरकार द्वारा समर्थन देने के लिए मुख्यमंत्री ने शाह का धन्यवाद किया। पंजाब में अतिरिक्त नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के आइजी स्तर के अधिकारी के चंडीगढ़ और अमृतसर में डीआइजी स्तर के अधिकारी को नियुक्त करने की मांग की।

मुख्यमंत्री ने बिना किसी बाधा के करतारपुर साहिब कॉरिडोर से यात्रा करने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए रावी नदी पर एक ओवरब्रिज के निर्माण के लिए पाकिस्तान पर दबाव डालने का भी मुद्दा रखा। बरसात के सीजन में रावी में बाढ़ आने की आशंका से काम प्रभावित होने पर संदेह व्यक्त किया। कैप्टन ने राज्य पुलिस के आधुनिकीकरण की आवश्यकता पर भी बल दिया और गृह मंत्री से एमपीएफ स्कीम के तहत धन प्रदान करने का आग्रह किया। उन्होंने सुझाव दिया कि पंजाब को 90:10 के अनुपात में फंड मुहैया करवाया जाए।

मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने 31 हजार करोड़ रुपये के फूड अकाउंट का मामला एक बार फिर से केंद्रीय खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री रामविलास पासवान के पास उठाया। उन्होंने कहा कि इस मुद्दे पर वित्तमंत्री और खाद्य आपूर्ति मंत्री के साथ संयुक्त मीटिंग की जरूरत है जिसे पासवान ने स्वीकार करते हुए कहा कि केंद्रीय बजट सत्र के बाद इस पर मीटिंग की जाएगी।