पानीपत : GST में बड़ा घोटाला, फर्जी फर्म का बिल बनाकर किया सौदा

0
552
views

जीएसटी फर्जीवाड़े का पर्दाफाश हुआ है। फर्जी फर्मों का बिल बनाकर सौदेबाजी का खेल खेला जा रह था। इससे सरकार को करोड़ों रुपये का चूना लगाया जा रहा था। आरोपितों की कार से  24 चेक बुक, जिनमें साइन किए हुए ब्लैंक चेक हैं बरामद की। ज्यादातर चेक बुक आंध्रा बैंक की हैं। छह रबड़ की मोहरें बरामद की। इनमें डीईटीसी (उप आबकारी कराधान आयुक्त) ईटीओ (आबकारी कराधान अधिकारी) के नाम की मोहर भी है। इसके अतिरिक्त विभिन्न फर्मों के बिल की प्रतियां भी बरामद की। आरोपित जिस लैपटॉप से काम करते थे वह भी पुलिस ने जब्त कर लिया।

दरअसल, पुलिस ने नई अनाज मंडी रेलवे लाइन के टी-प्वाइंट पर जीएसटी फर्जीवाड़े में कार सवार तीन आरोपितों को गिरफ्तार किया है। आरोपितों में राजेश मित्तल वासी देशराज कालोनी, इंद्र प्रताप सिंह देशराज कालोनी, मनीष वासी गली नंबर सात जाटल रोड शामिल हैं। पुलिस के अनुसार आरोपित बड़ी-बड़ी फर्मों से संपर्क कर उनका जीएसटी बचाने के लिए फर्जी फर्मों के अकाउंट नंबरों में पैसे जमा कराते थे। आरोपितों के खिलाफ धोखाधड़ी सहित विभिन्न धाराओं में चांदनी बाग थाना मामला दर्ज किया है।