मुलाना : कश्मीरी छात्रों के विरोध में ग्रामीण, पुलवामा हमले पर जश्न मनाने का आरोप

0
128
views

जम्‍मू-कश्‍मीर के पुलवामा में आतंकी हमले में 44 CRPF जवानों के मारे जाने से मुलाना में पढ़ने वाने कश्मीरी छात्रों के प्रति लोगों का गुस्सा बढ़ता जा रहा है. बराड़ा और मुलाना की ग्राम पंचायतों ने महर्षि मारकंडेश्वर यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाले उन कश्मीरी विद्यार्थियों को 24 घंटे के भीतर गांव छोडऩे को कहा है. ये छात्र वहां किराये के मकानों में रह रहे हैं. लोगों का आरोप है कि पुलवामा की घटना के बाद तीन कश्‍मीरी छात्रों ने हॉस्टल में मिठाइयां बांटकर जश्न मनाया था. लोगों ने इसके विरोध में प्रदर्शन भी किया.

सोशल मीडिया पर पंचायतों का फैसला वायरल होने के बाद प्रशासन को इसकी जानकारी मिली तो उसके हाथ-पांव फूल गए. महर्षि मारकंडेश्वर यूनिवर्सिटी में 254 कश्मीरी छात्र-छात्राएं हैैं. इनमें 104 विद्यार्थी हॉस्टल से बाहर आसपास के गांवों में रहते हैं. लोगों का गुस्सा देखते हुए इनमें 80 से ज्यादा विद्यार्थी यूनिवर्सिटी में शिफ्ट हो गए थे.

लोगों में कश्‍मीरी विद्यार्थियों के प्रति गुस्‍से के बारे में जानकारी मिलने पर बराड़ा के SDM गिरीश चावला और DSP सुधीर तनेजा शनिवार को मुलाना थाने पहुंचे. वहां पर मुलाना सरपंच नरेश चौहान को बुलाया गया. सरपंच ने पुलिस को कश्मीरी छात्रों की वाट्सएप चैटिंग दिखाई, जिसमें उन्होंने भारतीयों को गाली देकर पुलवामा की घटना पर खुशी जाहिर की है.