रोहित शेखर तिवारी की मौत में बड़ा खुलासा

0
228
views

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री रहे दिवंगत एनडी तिवारी के बेटे रोहित शेखर तिवारी की हत्या का मामला पुलिस के लिए बड़ी चुनौती बनता जा रहा है. हालांकि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद पुलिस ने इस मामले में रोहित की पत्नी अपूर्वा और घर के दो नौकरों अखिलेश और गोलू को पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया था.

  • पुलिस को अब तक कोई पुख्ता सुराग नहीं मिले है.
  • पुलिस के शक की सुई अपूर्वा की तरफ घूम रही है. हालांकि पुलिस संपत्ति विवाद को लेकर भी जांच में जुटी है.
  • दिल्ली पुलिस ने पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद रोहित तिवारी की संदिग्ध मौत के मामले में गुरुवार को हत्या का मामला दर्ज किया था.
  • रिपोर्ट में बताया गया कि रोहित की मौत सांस रुकने से हुई है. यानी किसी ने उनका गला दबाया है.
  • इस केस की जांच क्राइम ब्रांच के हवाले कर दी गई. इसके बाद क्राइम ब्रांच के रडार पर आए घर के दौ नौकर और रोहित की पत्नी अपूर्वा. पुलिस ने इन तीनों को हिरासत में ले लिया और पूछताछ शुरू कर दी.
  • इसके साथ ही रोहित के भाई सिद्धार्थ से पूछताछ की जा रही है.

पुलिस सूत्रों के मुताबिक रोहित शेखर के पास दो मोबाइल नंबर थे. खास बात ये है कि रात 3 बजे से 4 बजे के आसपास शेखर के नंबर से किसी को फोन करने की कोशिश की गई थी, जिसकी जांच की जा रही है. सूत्रों के मुताबिक तिलक लेन में रहने वाले एक रिश्तेदार की पत्नी कुमकुम भी शेखर के साथ उत्तराखंड गई थी. इसको लेकर शेखर की पत्नी खफा थी.

कैसे हुई थी मौत?

रोहित शेखर तिवारी राजधानी दिल्ली की डिफेंस कॉलोनी में अपनी मां उज्ज्वला तिवारी के साथ रहते थे, जहां वो कमरे में संदिग्ध हालात में पाए गए थे. उन्हें फौरन साकेत मैक्स हॉस्पिटल ले जाया गया लेकिन डॉक्टरों ने जांच के बाद उन्हें मृत घोषित कर दिया था. रोहित की मौत पर उनकी मां उज्ज्वला ने कहा था कि उन्हें किसी पर शक नहीं है, ये प्राकृतिक ही है. लेकिन वह इस बात का खुलासा बाद में करेंगी कि रोहित की मौत किन परिस्थितियों में हुई. बाद में उनकी मां ने मौत का कारण डिप्रेशन बताया था.