सदन के पहले दिन नहीं दिखे राहुल गांधी, स्मृति ईरानी ने ली पहली बार सांसद के रूप में शपथ

0
137
views

लोकसभा की कार्यवाही शुरू हो गई है. नए सांसद आज शपथ ले रहे हैं और ये ही सिलसिला कल भी चलेगा. गांधी परिवार के गढ़ अमेठी में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को मात देकर संसद पहुंचने वाली केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने भी आज बतौर लोकसभा सांसद शपथ ली. इस दौरान सदन में तालियां गूंजी. हालांकि, इसी बीच हर किसी की निगाहें विपक्षी खेमे में भी थीं जो कांग्रेस अध्यक्ष को ढूंढ रही थीं. राहुल गांधी लोकसभा में नहीं थे, ऐसे में कई सवाल भी खड़े हुए.

जिस वक्त सदन की कार्यवाही चल रही थी, तभी राहुल गांधी दिल्ली वापस लौटे थे. बताया जा रहा था कि वह पिछले एक हफ्ते से लंदन में थे. राहुल आज दिल्ली आते ही पार्टी नेताओं के साथ बैठक करेंगे और संसद के सत्र के लिए रणनीति पर काम करेंगे.

आज सदन की कार्यवाही शुरू हुई तो राहुल गांधी लोकसभा से नदारद थे. वह इस बार अमेठी से तो चुनाव हार गए लेकिन केरल की वायनाड से सांसद चुनकर आए हैं. अमेठी में स्मृति ने 2014 में भी चुनाव लड़ा था, लेकिन वह हार गई थीं. पर इस बार उन्होंने राहुल को बड़े अंतर से मात दी.

सोमवार को जब सदन की शुरुआत हुई तो विपक्षी खेमे में सबसे आगे यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी थीं. वह कांग्रेस संसदीय दल की नेता भी हैं. उनके बगल में नेशनल कॉन्फ्रेंस के फारूक अब्दुल्ला, समाजवादी पार्टी के मुलायम सिंह यादव दिखे. हालांकि, सोनिया के बाईं तरफ एक सीट खाली दिखी. ऐसे में सवाल है कि क्या राहुल गांधी यही सीट संभालेंगे यानी क्या राहुल कांग्रेस के सदन के नेता का पद संभालेंगे.

वरिष्ठ पत्रकार उर्मिलेश ने भी राहुल की अनुपस्थिति पर सवाल खड़े किए. हमारे न्यूज़ चैनल आजतक पर चर्चा के दौरान उन्होंने कहा कि नतीजों के बाद जिस तरह उन्होंने इस्तीफे की पेशकश की, कुछ नेताओं पर निशाना साधा. राहुल ने लोगों से मिलना भी बंद किया, तो माना जा रहा था कि वह नई लीडरशिप तैयार करें.

उर्मिलेश ने कहा कि आज उन्हें होना चाहिए था. हालांकि, उर्मिलेश ने कहा कि उनके रूठने और आज सदन से गायब होने को एक साथ जोड़ना ठीक नहीं होगा. ना सिर्फ पत्रकार, बल्कि सोशल मीडिया पर भी राहुल गांधी की अनुपस्थिति पर चर्चा छिड़ी हुई है.