हरियाणा में JJP और आप में नहीं होगा गठबंधन

0
326
views

जींद उपचुनाव में भाजपा के विरुद्ध मिलकर ताल ठोंकने वाली आम आदमी पार्टी (आप) और जननायक जनता पार्टी (जेजेपी) की राजनीतिक राहें जुदा हो गईं। दोनों दलों के बीच अगले लोकसभा और विधानसभा चुनाव के लिए गठबंधन की बातचीत सिरे नहीं चढ़ पाई. आप की हरियाणा इकाई के अध्यक्ष नवीन जयहिंद ने एक ट्वीट के जरिये जेजेपी के साथ गठबंधन की तमाम संभावनाएं खत्म हो जाने की जानकारी दी है। जेजेपी नेता सांसद दुष्यंत चौटाला ने आप सुप्रीमो अरविंद केजरीवाल को अच्छा व्यक्ति बताते हुए इस बारे में किसी तरह की जानकारी होने से इन्‍कार कर दिया है

जींद उपचुनाव में दोनों दलों के संयुक्त उम्मीदवार दिग्विजय सिंह चौटाला दूसरे नंबर पर रहे थे, जबकि कांग्रेस के दिग्गज नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला को तीसरे स्थान पर संतोष करना पड़ा था. दिग्विजय के लिए आप सुप्रीमो अरविंद केजरीवाल और राज्यसभा सदस्य सुशील गुप्ता खुद चलकर यहां आए थे। तभी संभावना जताई जाने लगी थी कि दोनों दल लोकसभा और विधानसभा चुनाव भी मिलकर लड़ेंगे। इसके लिए सीटों को बंटवारे को लेकर दोनों पार्टियों के प्रमुख नेताओं के बीच कई बार बातचीत के दौर भी चले, मगर शनिवार रात को खबर आई कि बातचीत सिरे नहीं चढ़ पाई है।

आप की हरियाणा इकाई के अध्यक्ष नवीन जयहिंद ने ट्वीट में कहा है कि जेजेपी हमें 10 में से दो लोकसभा सीटें दे रही थी और इसके बदले में एक लोकसभा सीट दिल्ली में मांग रही थी। पता नहीं ये लोग किस दुनिया में हैं। उनकी इस हठ से केवल भाजपा को ही फायदा होगा। काफी समझाने के बाद भी जब जेजेपी नहीं मानी तो उसके साथ गठबंधन की बातचीत को समाप्त कर दिया गया है।

दूसरी तरफ, पता चला है कि आम आदमी पार्टी हरियाणा में पांच लोकसभा और 45 विधानसभा सीटें मांग रही थी, जिसे देने के लिए जेजेपी नेता तैयार नहीं हुए। जेजेपी के नेता चाहते थे कि आप सिर्फ दो लोकसभा और 20 विधानसभा सीटों पर मान जाए। जेजेपी के सूत्रों ने उनकी पार्टी के द्वारा दिल्ली में एक सीट की मांग से इंकार किया है.