हिसार : आज से हुई शुरू कालेज में दाखिले के प्रक्रिया, एक जुलाई को पहली कट ऑफ लिस्ट होगी जारी

0
134
views

कालेजों में दाखिला प्रक्रिया शुरू हो चुकी व छात्रों ने अपने पसंदीदा कालेजों में दाखिले लेने के लिए तैयारी शुरू कर दी है। इस बार राजकीय कालेज में दो नए पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा कोर्स में दाखिला लेने का विद्यार्थियों के पास मौका होगा। इसके अलावा सरकार द्वारा तय किए गए ईडब्ल्यूएस कोटा के तहत भी पहली बार कालेज में दाखिले होंगे।

राजकीय कालेज में दाखिला लेने के लिए बच्चों में सबसे अधिक होड़ रहती है। इस बार नए कोर्स पीजीडीसीए व योग डिप्लोमा के नए कोर्स आने से विद्यार्थियों के सामने पढ़ाई के नए विकल्प सामने होंगे। दोनों ही कोर्स के लिए न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता बैचलर रखी गई है। लेकिन हायर एजुकेशन विभाग व यूनिवर्सिटी की तरफ से अभी तक नए कोर्स के बारे में पूर्ण जानकारी नहीं भेजी गई है, जिसे लेकर कालेज प्रशासन भी असमंजस की स्थित में है।

नए कोर्स की फीस कितनी होगी इसे लेकर अभी कोई जानकारी कालेज के पास नहीं आई है। इसके अलावा ईडब्ल्यूएस कोटे की सीटों को लेकर भी स्थित साफ नहीं है कि यह सीटें कैसे बढ़ेगी। हालांकि कालेज में 8 जून से दाखिला प्रक्रिया शुरू हो जाएगी जो 28 जून तक चलेगी। एक जुलाई को पहली कट ऑफ लिस्ट जारी होगी। इस बार केवल दो कट ऑफ लिस्ट जारी होगी। दाखिले के लिए जनरल व बीसी कैटेगरी के छात्रों को 150 रुपये शुल्क व एससी छात्रों के लिए 75 रुपये शुल्क निर्धारित किया गया है। छात्राओं के लिए ऑनलाइन फार्म भरने का कोई शुल्क नहीं होगा।

आर्थिक रूप से कमजोर सामान्य वर्ग के परिवारों के बच्चों को दाखिले के लिए यह कोटा निर्धारित किया गया है। इसका लाभ लेने वाले परिवार की आय 8 लाख रुपये से अधिक नहीं होनी चाहिये व 5 एकड़ से अधिक जमीन वालों को भी इसका लाभ नहीं मिलेगा। इस कैटेगरी के तहत ऑनलाइन फार्म भरते समय एक परफोर्मा निकलेगा। जिसे पोर्टल पर दिए गये निर्देशों के अनुसार तहसीलदार से वेरिफाई करवाकर वापिस पोर्टल पर अपलोड करना होगा। इसके बाद ही छात्र को ईडब्ल्यूएस कोटे का लाभ मिलेगा।

डायेक्टर आफ हायर एजुकेशन की तरफ से कालेज में नए कोर्स शुरू करने व ईडब्ल्यूएस कोटा लागू करने के निर्देश मिले हैं। इसके लिए कालेज तैयारियां कर रहा है। हालांकि अभी यह स्पष्ट नहीं है कि ईडब्ल्यूएस कोटे की सीटें वर्तमान सीटों से होगी या अलग से सीटों में बढोत्तरी होगी। छात्रों के सामने जल्द स्थिति स्पष्ट कर दी जाएगी।