चुनाव से पहले प्रशासन का बड़ा प्रयास, 12 मई तक खुल जाएंगे रोहतांग सुरंग के द्वार

0
108
views

19 मई को होने वाले चुनावों के मद्देनजर इस बार 12 मई को फिर से रोहतांग सुरंग के द्वार आम लोगों के लिए खोलने की योजना प्रशासन ने बनाई है। इसके लिए लोगों से आवेदन भी मांगें जा रहे हैं। चुनाव से ठीक पहले अधिक से अधिक संख्या में लाहुल वासियों को उनके घर पहुंचाने के लिए अब बीआरओ से बात हो चुकी है तथा 12 मई को बड़ी संख्या लाहुलवासी रोहतांग टनल पार कर अपने घरों को पहुंचेंगे। चुनाव आयोग के आदेशों के बाद लाहुल स्पीति के ऐसे मतदाताओं जो कुल्लू में रहते हैं उनको घर पहुंचाने के लिए रोहतांग सुरंग खोलने के लिए कहा गया था।

इसी कड़ी में बीते दिनों रोहतांग टनल से चुनावी कर्मचारी और लोग दो से तीन बार भेजे जा चके हैं। अब चुनाव की तिथि नजदीक आते देख प्रशासन ने 12 मई को बड़ी संख्या में लोगों को रोहतांग टनल के जरिए लाहुल भेजने की योजना बनाई है तथा इसके लिए आवेदन भी आमंत्रित लोगों से किए गए हैं। उनको संबंधित उड़ान अधिकारी कार्यालय में अपने आवेदन जमा करवाने हैं। हालांकि अभी तक कार्यालय में आधार अपडेट किए जा रहे हैं तथा अब प्रशासन की ओर से बीआरओ से किए गए संपर्क के बाद अब बीआरओ आगामी कार्रवाई करेगा। हालांकि रोहतांग को भी बहाल कर दिया गया है। लेकिन कोकसर की और अभी समय लगेगा। ऐसे में अब रोहतांग टनल के फिर से खोले जाने की योजना से लाहुल वासियों को बड़ी राहत मिल सकती है।

जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त लाहुल-स्पीति, अश्वनी कुमार चौधरी ने कहा कि अप्रैल माह से लाहुल घाटी में अब तक रोहतांग दर्रे और टनल से 2833 स्थानीय लोगों ने प्रवेश किया है। उन्होंने बताया कि बर्फबारी के चलते रोहतांग दर्रे से यातायात सुविधा आरंभ ना हो पाने के कारण अभी तक लाहुल घाटी सड़क मार्ग से जुड़ नहीं पाई है। उन्होंने बताया कि घाटी के सभी मतदाता लोकतंत्र के महापर्व में भाग लेने के लिए घाटी पहुंच सकें यह सुनिश्चित किया जा रहा है। रोहतांग टनल से अप्रैल माह तक 1177 तथा रोहतांग दर्रे से अभी तक 1656 लोग यहां पहुंचे हैं।