पंजाब में कर्ज से थे परेशान पांच किसानों ने की खुदकुशी

0
67
views
पंजाब में किसानों की खुदकुशी का सिलसिला नहीं थम रहा है. पंजाब में कर्ज के बोझ से परेशान पांच किसानों ने खुदकुशी कर ली. बताया जाता है कि इन किसानों पर सरकारी और गैर सरकारी बैंकों का लाखों रुपये का कर्ज था. पुलिस सभी मामले की जांच में जुट गई है.
 ताजा मामला रामपुराफूल और बठिंडा का है जहां कर्ज से परेशान चार किसानों ने खुदकुशी कर ली. रामपुराफूल के गांव ढींगर में 50 साल के किसान जगराज सिंह ने अपने खेत पर जहरीला पदार्थ पीकर खुदकुशी कर ली. किसान पर बैंकों और आढ़तियों का करीब तीन लाख रुपए कर्ज था. वहीं गांव सिधाना में एक 35 साल के किसान ने घर में फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली. परिजनों के मुताबिक किसान के पास करीब एक कनाल जमीन थी. जिससे परिवार का गुजारा नहीं हो पा रहा था. जिसके चलते उसने अपनी जान दे दी. वहीं गांव दयालपुरा मिर्जाका में 49 साल के किसान ने जहरीला पदार्थ पीकर अपनी जान दे दी.
परिजनों के मुताबिक किसान पर छह लाख रुपए का कर्ज था. किसान के पास चार एकड़ जमीन थी और दिन व दिन बढ़ रहे कर्ज से वो परेशान रहता था. वहीं बठिंडा के गांव मैसर खाना में भी किसान बुद्ध सिंह ने खुदकुशी कर ली.
पांचवे मामले में संगरुर के गांव गुरने के एक किसान ने कर्ज के बोझ से से परेशान हो कर रेलगाड़ी के नीचे आकर आत्महत्या कर ली है. गांव गुरने कलां के किसान रामफल (55) के सिर पर सरकारी व गैरसरकारी बैंकों का लाखों रुपए का कर्ज था. जबकि जमीन केवल डेढ़ एकड़ ही है. दो बेटे बेरोजगार होने और परिवार पर लाखों रुपए का कर्ज होने के कारण रामफल ने परेशान होकर रेलगाड़ी के नीचे आकर आत्महत्या कर ली.