आदत से मजबूर हैं डोनाल्ड ट्रंप, 2 साल में 8 हजार पर बोल गए झूठ !

0
117
views

अमेरिका के राष्ट्रपति अपने झूठे दावों और गलत बयानों को लेकर अक्सर सुर्खियों में रहते हैं. अब उन्होंने कश्मीर मसले को लेकर एक झूठा दावा किया है, जिसे लेकर उनकी दुनियाभर में आलोचना हो रही है.

  • ट्रंप ने दावा किया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनसे कश्मीर मामले में मध्यस्थता करने की गुजारिश की थी.
  • ट्रंप के इस बयान पर बवाल होने के बाद व्हाइट हाउस को भी इसपर सफाई देनी पड़ी है.
  • वहीं, भारत ने इस बयान को सिरे से खारिज किया है.
  • वैसे डोनाल्ड ट्रंप अमेरिकी राष्ट्रपति बनने के बाद से 8,158 बार झूठे या गुमराह करने वाले दावे कर चुके हैं.
  • कई मीडिया रिपोर्ट्स में यह बात कही गई है.
  • अमेरिकी अखबार ‘वॉशिंगटन पोस्ट’ ने जनवरी में ट्रंप प्रशासन के दो साल पूरे होने पर ऐसी एक रिपोर्ट प्रकाशित की थी.
  • ‘वॉशिंगटन पोस्ट’ की इस रिपोर्ट में कहा गया है कि राष्ट्रपति ने अपने कार्यकाल के पहले साल हर दिन औसतन करीब छह बार गुमराह करने वाले दावे किए, जबकि दूसरे साल उन्होंने तीन गुना तेजी से हर दिन ऐसे करीब 17 दावे किए.
  • अखबार ने अपनी रिपोर्ट में ‘फैक्ट चेकर’ के आंकड़ों का हवाला दिया है.
  • यह ‘फैक्ट चेकर’ राष्ट्रपति द्वारा दिए गए हर संदिग्ध बयान का विश्लेषण, वर्गीकरण और पता लगाने का कार्य करता है.
  • ‘फैक्ट चेकर’ के आंकड़ों के मुताबिक, ट्रंप राष्ट्रपति बनने से लेकर अब तक 8,158 बार झूठे और गुमराह करने वाले दावे कर चुके हैं.

अखबार ने कहा कि इसमें राष्ट्रपति के दूसरे साल किए गए ऐसे 6000 से ज्यादा आश्चर्यजनक दावे शामिल हैं. रिपोर्ट में कहा गया है कि ट्रंप ने सबसे ज्यादा गुमराह करने वाले दावे इमिग्रेशन (आव्रजन) को लेकर किए हैं. इस बारे में वह अब तक 1,433 दावे कर चुके हैं, जिनमें बीते तीन हफ्तों के दौरान किए गए 300 दावे शामिल हैं.

रिपोर्ट में कहा गया है कि ट्रंप विदेश नीति को लेकर 900 दावे कर चुके हैं. इसके बाद व्यापार (854), अर्थव्यवस्था (790) और नौकरियों (755) का नंबर आता है. इसके अलावा अन्य मामलों को लेकर वह 899 बार दावे कर चुके हैं, जिसमें मीडिया और अपने दुश्मन कहे जाने वाले लोगों पर गुमराह करने वाले हमले शामिल हैं.