81 साल की उम्र, बीपी, शुगर…फिर भी मजबूत हौसले से जीती कोरोना के खिलाफ जंग

0
244
views

मजबूत हौसलों के साथ कोई भी मंजिल तय करना आसान हो जाता है। इसमें उम्र भी मायने नहीं रखती। पंजाब के मोहाली जिले की रहने वालीं 81 वर्षीय कुलवंत निर्मल कौर की लड़ाई देश-दुनिया में तबाही मचा रहे कोरोना वायरस से थी। कुलवंत ने जीत का इरादा नहीं खोया। जीतने की इसी चाहत ने उन्हें उनके चहेतों के बीच लौटा दिया है। 81 साल की उम्र, डायबिटीज, हाइपरटेंशन के साथ-साथ पांच स्टेंट्स होने के बावजूद उन्होंने कोरोना को हरा दिया है। सोमवार को वह मैक्स हॉस्पिटल से डिस्चार्ज होकर वापस घर लौट गई हैं।

इस महामारी से जब कुलवंत ने जंग जीत ली तो उन्होंने सभी डॉक्टर्स, नर्सों और जिंदगी बचाने की दुआ करने वाले सभी लोगों को धन्यवाद कहा। लोगों का कहना है कि यह किसी करिश्मे से कम नहीं है।

इससे पहले केरल के कोट्टायम जिले में कोरोना वायरस से संक्रमित सबसे बुजुर्ग भारतीय व्यक्ति और उनकी पत्नी को पूरी तरह से संक्रमण मुक्त होने के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। पूरी जानकारी देते हुए अधिकारियों ने कहा कि थॉमस अब्राहम (93) और उनकी पत्नी मरियम्मा (88) कोट्टायम के सरकारी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में 9 मार्च से जिंदगी और मौत की जंग लड़ रहे थे। इसमें उनकी जीत हुई है।

एक अधिकारी ने कहा, ‘वे अब ठीक हैं। कोरोना वायरस की उनकी ताजा जांच में संक्रमण की पुष्टि नहीं हुई है जिसके बाद उनको छुट्टी देने का फैसला लिया गया।’ केरल के पथनामथिट्टा जिले के रन्नी गांव के निवासी थॉमस और मरियम्मा का बेटा, बहू और पोता पिछले महीने इटली से लौटे थे, जिनके संपर्क में आकर वे कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए थे।