AAP से इस्तीफा देकर सुखपाल खैरा ने बनाई ‘पंजाबी एकता पार्टी’

0
171
views

आम आदमी पार्टी से इस्तीफा देकर सुखपाल खैरा ने पंजाबी एकता पार्टी के नाम से नए दल का गठन किया है. चंडीगढ़ में पार्टी की घोषणा के दौरान आम आदमी पार्टी के विधायक पिरमल  सिंह खालसा, जगदेव सिंह कमलू, नाजर सिंह मानशाहिया सहित पार्टी के निलंबित विधायक कवर संधू भी उनके साथ मौजूद रहे.

  • आप के चार विधायक सुखपाल सिंह खैहरा के साथ होने से पंजाब से पार्टी के लिए भी बड़ा झटका है.
  • इससे पंजाब विधानसभा में आप की विपक्ष की कुर्सी भी जा सकती है, क्योंकि फूलका और खैहरा के इस्तीफा देने के बाद विधानसभा मे आप विधायकों की संख्या 18 रह गई है.
  • ऐसे में 4 और विधायक टूटते हैं तो ये संख्या 14 रह जाएगी, जबकि अकाली दल और भाजपा के विधायकों की संख्या 16 है.

चुनाव लडऩे से नहीं डरता-खैहरा

गत दिवस खैहरा ने कहा था कि वह चुनाव लड़ने से नहीं डरते, लेकिन वह व उनके साथी बार-बार उपचुनाव करवा कर सरकारी खजाने पर अतिरिक्त बोझ नहीं डालना चाहते, लेकिन यदि आप लीडरशिप विरोधी पक्ष का ओहदा अकाली दल को देने में राजी है, तो वह व उनके साथी विधायक पद से इस्तीफा देकर यह इच्छा पूरी करने को भी तैयार हैं.

पद के भूखे हैं केजरीवाल: खैहरा

खैहरा ने कहा कि केजरीवाल पद के भूखे हैं। पार्टी प्रमुख बनने के लिए उन्होंने तीन बार संविधान में संशोधन कर लिया है। दिल्ली का मुख्यमंत्री होने के बावजूद वे पार्टी प्रमुख का पद छोड़ने को तैयार नहीं हैं.

आप में खैहरा का सफर

  • 11 मार्च 2017 को AAP से विधायक बने.
  • 20 जुलाई, 2017 में नेता प्रतिपक्ष बने.
  • 26 जुलाई, 2018 को पार्टी ने नेता प्रतिपक्ष पद से हटाया.
  • 3 नवंबर, 2018 को पार्टी से निलंबित किया गया.
  • 6 जनवरी, 2019 को आम आदमी पार्टी से इस्तीफा दिया.
  • 7 जनवरी, 2019 को नई पार्टी बनाने की घोषणा.
  • 8 जनवरी, 2019 को पंजाबी एकता पार्टी का गठन किया.