यमुनानगर में कुटु का आटा खाने से करीब 200 लोगों की तबीयत हुई खराब

0
39
views

कोरोना वायरस के बीच यमुनानगर में दूसरा संकट पैदा हो गया है. यहां बुधवार रात को कुटु का आटा खाने से अचानक से पूरे शहर के करीब 200 लोगों की तबीयत खराब हो गई. देखते ही देखते शहर के सरकारी और प्राइवेट अस्पताल मरीजों से भर गए. स्वास्थ्य विभाग ने कार्रवाई करते हुए कुटु के आटे को बैन कर दिया है और जहां-जहां से मरीजों ने आटा लिया था, वहां छापेमारी की जा रही है.

गौरतलब है कि बुधवार को पहला नवरात्र था. व्रत में कुटु का आटा खाया जाता है. शाम के समय लोगों ने कुटु का आटा खाया तो अचानक से तबीयत बिगड़ने लगी. लोगों का कहना था कि खाने के आधे घंटे बाद उल्टी, दस्त, पेट दर्द व चक्कर आने शुरू हो गए. देखते ही देखते शाम को ही शहर के मुकुंद लाल जिला सिविल अस्पताल यमुनानगर और सिविल अस्पताल जगाधरी में 180 मरीज भर्ती हो गए.

शहर के दो सरकारी अस्पतालों में 180 मरीज भर्ती हुए तो सैकड़ों मरीज प्राइवेट अस्पतालों में भर्ती हो गए. सभी ने कुटु का आटा खाया था. इससे उनकी तबीयत बिगड़ी थी. काफी का इलाज अभी भी अस्पतालों में चल रहा है. कोरोनावायरस के चलते हर मरीज को मास्क दिया गया और जिस-जिस मरीज की हालत में सुधार हुआ उनकी छुट्टी कर दी गई.