LIC के बाद अब SAIL की हिस्सेदारी बेचना चाहती है सरकार

0
114
views

नई दिल्ली. केंद्र सरकार स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया की 5 फीसदी हिस्सेदारी बेचकर 1 हजार करोड़ रुपये जुटाने की योजना बना रही है. निवेश एवं लोक संपत्ति प्रबंधन विभाग  और इस्पात मंत्रालय के अधिकारी सेल की हिस्सेदारी की बिक्री के लिये सिंगापुर  और हांगकांग  में रोड शो करने की तैयारी कर रहे हैं. हालांकि, कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए हांगकांग रोडशो को रद्द किया जा सकता है. सरकार की सेल में अभी 75 फीसदी हिस्सेदारी है. सरकार ने इससे पहले दिसंबर, 2014 में सेल की 5 प्रतिशत हिस्सेदारी की बिक्री की थी.

OFS के जरिए होगी हिस्सेदारी की बिक्री
एक अधिकारी ने कहा, हम खुली पेशकश के जरिये सेल की 5 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचने की योजना बना रहे हैं. हम रोडशो में निवेशकों की दिलचस्पी का मूल्यांकन करेंगे. मौजूदा बाजार दर के हिसाब से सरकार सेल की पांच प्रतिशत हिस्सेदारी बेचकर करीब एक हजार करोड़ रुपये जुटा सकती है. बंबई शेयर बाजार (BSE) में शुक्रवार को सेल का शेयर 0.51 प्रतिशत गिरकर 48.65 रुपये पर बंद हुआ.

इस वित्त वर्ष में विनिवेश से 34 हजार करोड़ ही जुटाये
सरकार यह बिक्री इसी वित्त वर्ष में पूरा कर सकती है क्योंकि वह 65 हजार करोड़ रुपये के विनिवेश के संशोधित लक्ष्य को पाने की जी-तोड़ कोशिशें कर रही है. अभी तक इस वित्त वर्ष में विनिवेश से 34 हजार करोड़ रुपये ही जुटाये जा सके हैं और बाकी 31 हजार करोड़ रुपये मार्च के अंत तक जुटाये जा सकते हैं. सरकार ने वित्त वर्ष 2020-21 में CPSE स्टेक सेल से 1.20 लाख करोड़ रुपये जुटाने का लक्ष्य रखा है. ये भी पढ़ें: बदलने वाला है इन 3 सरकारी बैंकों का नाम, अब ग्राहकों के लिए जरूरी है इन 5 कामों को निपटाना

इस कंपनी की भी हिस्सेदारी बेचने की योजना
सरकार गार्डन रिच शिपबिल्डर्स एंड इंजीनियर्स लिमिटेड (Garden Reach Shipbuilders & Engineers Ltd- GRSE) की 10 प्रतिशत हिस्सेदारी भी बेचने की योजना बना रही है. इससे सरकार को करीब 200 करोड़ रुपये मिल सकते हैं.