महिला क्रू मेंबर्स ने MI-17 V5 उड़ा रचा इतिहास, पंजाब की बेटी ने भी छूू लिया आसमान

0
329
views

भारतीय वायु सेना की तीन महिला अधिकारियों ने गत दिवस इतिहास रच दिया. वे मध्यम आकार वाले हेलीकॉप्टर को उड़ाने वाली पहली ‘All women crew’ बन गईं.

उन्होंने बैटल इनोक्यूलेशन ट्रेनिंग मिशन के तहत Mi-17V5 हेलीकॉप्टर उड़ाया. Flight lieutenant पारुल भारद्वाज (कैप्टन), Flying officer अमन निधि (सहायक पायलट) और Flight lieutenant हिना जायसवाल (flight engineer) मध्यम आकार वाले हेलीकॉप्टर को उड़ाने वाली पहली ‘All women crew’ बन गई हैं.

भारतीय वायुसेना की एक विज्ञप्ति में कहा गया है कि तीनों महिला अधिकारियों ने दक्षिण पश्चिमी वायु कमान से आगे स्थित एयरबेस पर एक प्रतिबंधित क्षेत्र से युद्धक प्रशिक्षण मिशन के लिए हेलीकॉप्टर से उड़ान भरी.

लेफ्टिनेंट पारुल भारद्वाज पंजाब के मुकेरियां की रहने वाली हैं और Mi-17V5 के साथ उड़ान भरने वाली पहली महिला पायलट भी हैं.

रांची निवासी Flying officer अमन निधि झारखंड की पहली महिला पायलट भी हैं. Flight lieutenant हिना जायसवाल चंडीगढ़ की रहने वाली हैं और भारतीय वायु सेना की पहली महिला flight engineer हैं.

मुकेरियां के पास पड़ते गांव काला मंज के एक मध्यमवर्गीय परिवार की बेटी पारुल भारद्वाज के पिता प्रवीन भारद्वाज रोडवेज में ड्राइवर की नौकरी करते हैं.

माता प्रिया भारद्वाज श्री गुरु गोबिंद सिंह सीनियर सेकेंडरी स्कूल बेगपुर कमलूह में अध्यापिका है. पारुल ने भी इसी स्कूल से 2009 में बारहवीं पास की. 42 SSCW (PC) पायलट कोर्स करने के बाद 2015 में पायलट बनकर सातवां रैंक हासिल किया.