उत्तर कोरिया से युद्ध हुआ तो साथ होंगे अमेरिका और जापान

0
650
views

टोक्यो

जापान दौरे के दूसरे दिन अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने साफ कहा कि उत्तर कोरिया के साथ युद्ध होने पर उनका देश जापान के साथ मैदान में उतरेगा। उन्होंने जापान के साथ अमेरिका के व्यापारिक असंतुलन को दूर करने के प्रयास को भी अपने दौरे का महत्वपूर्ण उद्देश्य बताया।

उल्लेखनीय है कि अमेरिका जहां दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था वाला देश है तो जापान में तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है। जापान और अमेरिका के बीच होने वाले व्यापार में आयात-निर्यात के बीच बड़ा अंतर है।

जापानी प्रधानमंत्री शिंजो एबी के साथ बैठक के बाद ट्रंप ने कहा, उत्तर कोरिया के मामले में रणनीतिक धैर्य का समय पूरा हो चुका है। अब दोनों देश उत्तर कोरिया के आक्रामक रुख का जवाब देने की रणनीति पर विचार कर रहे हैं। जबकि एबी ने कहा कि राष्ट्रपति ट्रंप के उत्तर कोरिया को लेकर सभी विकल्प खुले होने के वक्तव्य के पूरी तरह से साथ है।

उन्होंने कहा, उत्तर कोरिया के मुद्दे पर जापान एक सौ प्रतिशत अमेरिका के साथ है। इससे पहले ट्रंप ने दोनों देशों के बीच मुक्त और संतुलित व्यापार पर जोर दिया। कहा, इस सहयोग में अमेरिका को दशकों से भारी घाटा झेलना पड़ रहा है जो ठीक नहीं है। बावजूद इसके दोनों देशों के संबंध इस समय सबसे ज्यादा मजबूत स्थिति में हैं।

18 उत्तर कोरियाई नागरिकों पर प्रतिबंध

ट्रंप के दौरे से एक दिन पहले दक्षिण कोरिया ने उत्तर कोरिया के 18 नागरिकों पर प्रतिबंध की घोषणा की। ये लोग उत्तर कोरिया का व्यापार बढ़ाने में सहायक थे। साथ ही सभी दक्षिण कोरियाई लोगों पर उत्तर कोरिया के लिए किसी भी रूप में धन भेजने पर रोक लगा दी। जिन 18 उत्तर कोरियाई लोगों पर प्रतिबंध लगाया गया है वे सभी उत्तर कोरिया की बैंकों से जुड़े हुए हैं।