दुनिया का बेहतरीन लड़ाकू हेलिकॉप्टर ‘अपाचे’ भारतीय वायुसेना में शामिल

0
84
views

दुनिया का सबसे बेहतरीन अटैक हेलिकॉप्टर अपाचे मंगलवार को भारतीय वायुसेना के बेड़े में शामिल हो जाएगा. इस ताकतवर लड़ाकू हेलिकॉप्टर के शामिल होने के बाद भारतीय वायुसेना की ताकत कई गुना बढ़ जाएगी. अपाचे AH-64E अत्याधुनिक तकनीक से लैस है जो इसे दुनिया का सबसे खतरनाक अटैक हेलिकॉप्टर बनाता है.

भारतीय वायुसेना ने ‘अपाचे हेलीकॉप्टर’ के लिए अमेरिकी सरकार और बोइंग लिमिटेड के साथ सितम्बर 2015 में कई अरब डॉलर का अनुबंध किया था. इसके तहत बोइंग ने 27 जुलाई को 22 हेलिकॉप्टर में से पहले चार हेलिकॉप्टर दिए गए थे. आइए जानते हैं इसकी खासियत के बारे में-

पारंपरिक युद्ध में टैंक लाने से लेकर छिपकर जंग लड़ने वाले आतंकवादियों पर हमला करने में इस हेलिकॉप्टर की अहम भूमिका होगी.

हथियारों से लैस और तेज गति से उड़ान भरता अपाचे जमीन से होने वाले तमाम हमलों का जवाब दे सकता है. अपने मिलीमीटर वेव रडार की मदद से यह हथियारों से लैस दुश्मनों की मौजूदगी का पता लगा सकता है और उन्हें लेजर गाइडेड हेलफायर मिसाइल, हाइड्रा-70 एंटी ऑर्मर रॉकेट और 30 मिमी गन से बर्बाद कर सकता है. यह हेलिकॉप्टर थर्मल इमेजिंग सेंसर का इस्तेमाल करके छिपे आतंकवादियों का भी पता लगा सकता है और आतंकियों से अपनी 30 mm गन या एंटी पर्सनल रॉकेट्स से निपट सकता है.

दूसरे अटैक हेलिकॉप्टर की तुलना में अपाचे का जंगी इतिहास काफी अच्छा रहा है. अमेरिका ने इराकी सेना से लड़ाई में और अफगानिस्तान की पहाड़ियों में छिपे तालिबान को नष्ट करने में भी अपाचे का सफलतापूर्वक इस्तेमाल किया था.

बोइंग ने दुनिया को करीब 2200 अपाचे हेलिकॉप्टर सौंपे हैं. 2020 तक भारतीय वायुसेना के बेड़े में 22 अपाचे हेलिकॉप्टर शामिल किए जाएंगे.

अपाचे हेलिकॉप्टर को किसी भी सैन्य मिशन में इस्तेमाल किया जा सकता है. यह सेंसर की मदद से हर मौसम और रात में भी उड़ान भरने में सक्षम है.

उच्च क्षमता वाले दो टर्बोशैफ्ट इंजन की मदद से अपाचे प्रति घंटे 284 किमी की स्पीड से उड़ान भर सकता है.

रक्षा मंत्रालय के मुताबिक, ये हेलिकॉप्टर डेटा नेटवर्किंग की मदद से जंग के मैदान की तस्वीरें हासिल कर सकता है. थल सेना के कई ऑपरेशनों में यह अटैक हेलिकॉप्टर काफी अहम साबित होगा.

अपाचे AH-64E में 30 mm की M230 ऑटोमैटिक गन भी लगी है जिससे 1200 राउंड फायरिंग की जा सकती है. इसके विंग्स पर 4 हार्ड पाइंट है जिन पर तमाम मिसाइलों के ले जाया जा सकता है. यह हेलिकॉप्टर 16 एडीएम-114 आर हेलफायर 2 मिसाइल्स ले जाने में सक्षम है.