दो दिवसीय हड़ताल पर हरियाणा रोडवेज के कर्मचारी, यात्री परेशान

0
594
views

हरियाणा रोडवेज के कर्मचारियों ने सरकार के सामने एक बार फिर मुश्किलें खड़ी कर दी है. और दो दिवसीय हड़ताल पर चले गए हैं. पूरे प्रदेश में दो दिनों के लिए रोडवेज का चक्का जाम है. जिससे बसों में सफर करने वाले लोगों को खासी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है. टोहाना, करनाल, यमुनानगर, भिवानी, रोहतक समेत कई जिलों में हड़ताल का असर देखने को मिला. यात्री बस सेवा के लिए इधर से उधर भागते नजर आए. वहीं कर्मचारी धरने पर बैठे रहे.

प्रदर्शनकारी कर्मचारियों ने चेतावनी दी है कि अगर मांगें नहीं मानी गई तो हड़ताल आगे तक बढ़ाई जाएगी.. रोहतक में ड्यूटी मजिस्ट्रेट ने बताया कि कर्मचारी शांतिपूर्वक हड़ताल कर रहे हैं, अगर किसी तरह का उत्पात हुआ तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी. साथ ही कर्मचारी नेताओं ने बताया कि हड़ताल पूरी तरह से कामियाब है, जब तक सरकार तालमेल कमेटी से उनकी मांगों के संबंध में टेबल पर बात नहीं करती तब तक प्रदर्शन जारी रहेगा.

हरियाणा रोडवेज कर्मचारी किलोमीटर के आधार पर निजी बसों को शामिल करने और एस्मा लागू करने के विरोध में हड़ताल कर रहे हैं. इस हड़ताल के कारण यात्रियों को भारी परेशानियों का सामना करने पड़ रहा है. बसें ना होने के चलते प्राइवेट बसों और मैक्सी कैब चालकों की चांदी हो रही है. पंचकूला, रेवाड़ी, सोनीपत में भी यही हालात देखने को मिला. हालांकि पुलिस बल जरूर मुस्तैद है. कर्मचारियों का कहना है कि चाहे कर्मचारियों की गिरफ्तारी हो या कोई भी बड़ी कार्रवाई हो, वो अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन करते रहेंगे.

हरियाणा में रोडवेज कर्मचारियों की हड़ताल पर प्रदेश सरकार सख्त रुख अपनाए हुए हैं। भिवानी पहुंचे हरियाणा के सीएम मनहोर लाल ने कहा है कि प्राइवेट बसों को परमिट देने पर रोक की मांग पर कोई भी सुनवाई नहीं होगी.