नया BIS कानून लागू, ज्वैलरी पर हॉलमार्किंग जरूरी, जानें हॉलमार्किंग के फायदे

0
418
views

दिवाली से पहले ग्राहकों के लिए अच्छी खबर है. ज्वैलरी पर जल्द ही हॉलमार्किंग जरूरी हो जाएगा. केंद्र सरकार ने नया बीआईएस कानून लागू कर दिया है. कानून के मुताबिक बगैर हॉलमार्किंग के ज्वैलरी बेचना गैरकानूनी माना जाएगा. फिलहाल देश में करीब 500 हॉलमार्किंग सेंटर हैं. नए कानून के तहत ज्वैलरी की हॉलमार्किंग जरूरी हो जाएगा. बीआईएस ज्वैलरी हॉलमार्किंग के नए नियम तय करेगा. नया बीआईएस कानून 12 अक्टूबर से लागू किया गया है.

हॉलमार्किंग के फायदे

हॉलमार्किंग के फायदे की बात करें तो तीन कैटिगरी 14,18, 22 कैरट में हॉलमार्किंग की जाएगी. हॉलमार्किंग से शुद्धता पक्की होगी. जूलरी को दोबारा बेचने पर अच्छी कीमत मिलेगी. मिलावटी सोने का डर खत्म होगा. हॉलमार्किंग की फीस सोने-चांदी के वजन के आधार पर नहीं ली जाएगी, बल्कि हर पीस के लिए 35 रुपये चार्ज लगेगा. इंडियन हॉलमार्किंग असोसिएशन के अधिकारी का कहना है कि सरकार ने ग्राहकों के सुविधा के लिए 3 तरीके से हॉलमार्किंग करने का फैसला किया है. इससे गोल्ड की शुद्धता कायम रहेगी.