मिशन 2019: मेरठ में BJP कार्यकर्ताओं को जीत का मंत्र देंगे शाह

0
282
views

साल 2019 में लोकसभा चुनाव होने है. लोकसभा चुनाव में जीत हासिल करने के लिए सभी पार्टियों ने कमर कस ली है. 2019 लोकसभा चुनावों में सीटों के लिहाज से देश के सबसे बड़े सूबे उत्तर प्रदेश में बीजेपी कार्यसमिति के मंथन का आज दूसरा और आखिरी दिन है. जिसमें बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह यूपी के सभी बीजेपी सांसद-विधायक समेत पार्टी पदाधिकारियों को संबोधित करेंगे.

मिली जानकारी के मुताबिक जिलाध्यक्षों और जिला प्रभारियों की बैठक के बाद, दूसरे दिन 2019 लोकसभा चुनावों के लिए राजनीतिक प्रस्ताव पारित होगा. जिसके बाद पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के समापन भाषण के साथ ही इस दो दिवसीय चिंतन बैठक का समापन होगा. कार्यसमिति की बैठक के बाद बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह सभी 324 विधायकों समेत प्रदेश के सभी सांसदों के साथ अलग से बैठक करेंगे. जिसमें मुख्य रूप से 2019 चुनाव को लेकर आगामी कार्ययोजना पर चर्चा होगी.

बता दें कि मेरठ पश्चिमी उत्तर प्रदेश की राजनीति का बड़ा केंद्र है, जहां 21 साल बाद प्रदेश कार्यसमिति का आयोजन किया जा रहा है. इससे पहले कानपुर, मिर्जापुर, चित्रकूट और लखनऊ में प्रदेश कार्यसमिति बैठक हो चुकी है. मेरठ में होने वाली इस बैठक में बीजेपी हाल के दिनों में हुए उपचुनावों में सपा-बसपा-रालोद गठबंधन से मिली हार के बाद इस तिकड़ी को मात देने के लिए आगे की रणनीति तैयार करेगी.

पश्चिमी यूपी की सहारनपुर, बिजनौर, नगीना, मेरठ, मुजफ्फरगर, मुरादाबाद, अलीगढ़, संभल, एटा, फतेहपुर सीकरी, मथुरा ऐसी लोकसभा सीटें हैं जहां 2014 में बीजेपी को जीत मिली थी. लेकिन गैर-बीजेपी दलों का वोट बीजेपी से ज्यादा था. अब इन दलों के एक साथ आ जाने से बीजेपी को नुकसान होने का खतरा है. लिहाजा बीजेपी की नजर 18 साल पूरा कर पहली बार मतदान करने वाले युवाओं पर टिकी है. रणनीतिकारों का मानना है कि जिस तरह 2014 और 2017 में युवाओं के बल पर बीजेपी सत्ता में आई इस बार भी उनको जोड़ने में जोर लगाना होगा.