कालका मंदिर से नोएडा मेट्रो लाइन तैयार, अगले महीने भरेगी रफ्तार

0
362
views

 मजेंटा लाइन (जनकपुरी पश्चिम-बॉटेनिकल गार्डन) पर बॉटेनिकल गार्डन से कालकाजी मंदिर के बीच इस महीने स्वचालित मेट्रो का परिचालन शुरू करने की योजना टल गई है। क्योंकि इस मेट्रो कॉरिडोर के सुरक्षा मानकों की जांच अब तक नहीं हो पाई है। उम्मीद की जा रही है कि अब अगले महीने कालकाजी मंदिर से बॉटेनिकल गार्डन के बीच स्वचालित मेट्रो रफ्तार भर सकेगी।

जनकपुरी पश्चिम से बॉटेनिकल गार्डन तक मजेंटा लाइन की कुल लंबाई करीब 38.23 किलोमीटर है। वैसे तो इस लाइन पर दिसंबर 2016 में ही मेट्रो का परिचालन शुरू होना था, लेकिन निर्माण में विलंब के कारण दिल्ली मेट्रो रेल निगम तय समय पर मेट्रो का परिचालन शुरू नहीं कर सका।

इस मेट्रो लाइन के 12.64 किलोमीटर हिस्से पर कालकाजी मंदिर से बॉटेनिकल गार्डन के बीच मेट्रो कॉरिडोर का काम पूरा हो चुका है। इसके अलावा करीब एक साल तक इस कॉरिडोर पर मेट्रो का ट्रायल भी किया जा चुका है। डीएमआरसी ने इस कॉरिडोर पर मेट्रो का परिचालन शुरू करने की समयसीमा में कई बार बदलाव करने के बाद इस महीने के अंत तक परिचालन शुरू करने का लक्ष्य निर्धारित किया था।

डीएमआरसी इस कॉरिडोर पर मेट्रो का परिचालन शुरू करने के लिए तैयार है। उसने सुरक्षा मानकों की जांच के लिए अक्टूबर के दूसरे हफ्ते में मेट्रो रेल संरक्षा आयुक्त (सीएमआरएस) के पास फाइल भेजी है। उसे उम्मीद थी कि इस महीने सुरक्षा मानकों की जांच हो जाएगी और मेट्रो परिचालन की स्वीकृति भी मिल जाएगी, पर ऐसा नहीं हो सका।

इसका एक कारण यह भी है कि डीएमआरसी की तरफ से सीएमआरएस के पास सुरक्षा मानकों की जांच के लिए अनुरोध पत्र व फाइल भेजने में देरी की गई। डीएमआरसी को उम्मीद है कि अगले महीने सुरक्षा मानकों की जांच के बाद मेट्रो का परिचालन शुरू किया जा सकेगा। इस कॉरिडोर पर परिचालन शुरू होने से दक्षिणी दिल्ली से नोएडा और नोएडा से फरीदाबाद के बीच आने जाने की सुविधा बेहतर हो जाएगी।