हरियाणा में पेट्रोल व डीजल महंगा, बस किराया बढ़ा, शराब पर कोरोना सेस

0
249
views

हरियाणा की खट्टर सरकार ने कोरोना की मार से बेहाल आर्थिक हालत को सुधारने के लिए कई बेहद कड़े फैसले किए हैं। राज्‍य कैबिनेट की बैठक में जनता पर कई आर्थिक भार डालने वाले निर्णय किए। हरियाणा रोडवेज बसों के किराये में वृद्धि कर दी गई है। सब्‍जी और फल भी महंगे हो सकते हैं। सरकार ने सब्‍जी और फल मंडियों में दो फीसदी मार्केट फीस लगा दी है। अभी यह फीस नहीं लगती थी। इसके अलावा शराब भी महंगी होगी। कैबिनेट ने शराब पर कोरोना सेस लगाने का भी फैसला किया है। पेट्राेल और डीजल भी महंगा हो गया है। पेट्रोल की कीमत में एक रुपये प्रति लीटर और डीजल की कीमत में 1.10 रुपये प्रति लीटर की वृद्धि की गई है।

इस तरह कोरोना महामारी का असर अब प्रदेश की जनता पर अतिरिक्त खर्च के बोझ के रूप में पड़ा है। कमजोर वित्तीय स्थिति के कारण हरियाणा मंत्रिमंडल की बैठक में ये अहम निर्णय लिए गए। इससे सरकार की माली हालत को मजबूती मिल सकती है। शराब पर कोरोना सेस लगाने पर सहमति हो चुकी है, लेकिन इसकी दर कितनी होगी, यह तय होना अभी बाकी है।

हरियाणा रोडवेज की सामान्य बसों में किराया 85 पैसे प्रति किलोमीटर से बढ़ाकर एक रुपये प्रति किलोमीटर कर दिया गया है, जबकि लग्जरी (वोल्वो) बसों का किराया दो रुपये प्रति किलोमीटर से बढ़ाकर ढाई रूपये प्रति किलोमीटर किया गया है। हरियाणा में सामान्य बसों का किराया बढ़ाने के बावजूद यह पंजाब, हिमाचल और राजस्थान से कम ही रहेगा। औसत हिसाब लगाया जाए तो लग्जरी बसों का चंडीगढ़ से दिल्ली तक का किराया 125 रुपये बढ़ा है, जबकि सामान्य बसों का किराया इसी रूट पर 37 रुपये बढ़ाया गया है।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल की अध्यक्षता में हुई हरियाणा मंत्रिमंडल की बैठक में मार्केट कमेटियों के अंतर्गत सब्जी मंडी और फ्रूट मंडी में दो फीसद मार्केट फीस फिर से बहाल कर दी गई है। इसमें एक फीसद मार्केट फीस और एक फीसद एचआरडीएफ सेस होगा। पिछली हुड्डा सरकार ने 2014 में इस फीस को माफ कर दिया था। इस फैसले से सरकारी खजाने में काफी राजस्व आने की उम्मीद की जा सकती है। साथ ही फल व सब्जियां महंगी हो जाएंगी।

कैबिनेट की बैठक में हरियाणा में पड़ोसी प्रदेशों पंजाब, चंडीगढ़ से नई दिल्ली, इंदिरा गांधी एयरपोर्ट होते हुए गुरुगाम तथा चंडीगढ़ से बल्लभगढ़ तक चलने वाली लग्जरी बसों के किराये में 25 प्रतिशत बढ़ोतरी की गई है। अब चंडीगढ़ के सेक्टर-17 बस स्टैंड से नई दिल्ली के आइएसबीटी तक के किराये में लगभग 125 रुपये अतिरिक्त यात्रियों को चुकता करने होंगे। रोडवेज की सामान्य बसों में इस रूट पर यात्रियों की जेब पर करीब साढ़े 37 रुपये अधिक का बोझ पड़ेगा। वर्तमान में सामान्य बसों का किराया 85 पैसे प्रति किलोमीटर था, जिसे बढ़ाकर एक रुपया किया गया है। इस किराये में पंद्रह पैसे प्रति किलोमीटर किराये में बढ़ोतरी हुई है।

कैबिनेट बैठक में आबकारी नीति को लेकर भी चर्चा हुई। इसे 14 मई से लागू करने की योजना है। प्रदेश में शराब की कीमतों में भी अब बढ़ोतरी हो सकती है। तीन मई तक लॉकडाउन के चलते शराब ठेके बंद हैं। इसके बाद भी ठेके खुलेंगे या नहीं, यह केंद्र सरकार की हिदायतें पर निर्भर करेगा, लेकिन सरकार चाहती है कि 14 मई से ठेकों को खोला जा सकता है। अधिकारियों से रिपोर्ट मांगी गई है कि कितना कोरोना सेस लगाया जा सकता है।