पंजाब: कैप्टन अमरिंदर ने की अकाली दल से अपील, कृषि अध्यादेशों के खिलाफ आवाज उठाएं

0
149
views

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने शिरोमणि अकाली दल से केंद्र सरकार के कृषि अध्यादेशों के खिलाफ आवाज उठाने की अपील की है। उन्होंने कहा, ‘शिरोमणि अकाली दल इस मामले पर अपनी राजनीतिक बंदिशों को त्याग कर दिल की बात सुने।’ कैप्टन ने फेसबुक लाइव कार्यक्रम में लोगों के सवालों के जवाब दिए।

उन्होंने कहा कि मैंने सर्वदलीय बैठक में भी अकाली दल के नेताओं से यही अपील की थी कि वह इन अध्यादेशों के दीर्घकालिक परिणाम पर ध्यान नहीं देख रहे हैं। सिर्फ अपने राजनीतिक हितों को राज्य के लोगों के हितों पर प्राथमिकता दे रहे हैं। इन अध्यादेशों से भविष्य में पंजाब के लिए बर्बादी के परिणाम सामने आएंगे।

कैप्टन ने कहा कि 2005 में पंजाब के पानी को बचाने के लिए उन्होंने अपनी पार्टी के हितों का त्याग कर पड़ोसी राज्यों से सभी जल समझौते रद किए थे। यहां तक कि अपने राजनीतिक जीवन को भी दांव पर लगाया। कैप्टन ने कहा कि केंद्र सरकार की ओर से लाए जा रहे अध्यादेश शांता कुमार कमेटी की सिफारिशों पर आधारित हैं। कमेटी ने एमएसपी को खत्म करने और एफसीआइ को बंद करने जैसी सिफारिश की थी। उन्होंने कहा कि इस अध्यादेश में एमएसपी व्यवस्था को खत्म करने की घोषणा चाहे न हो, लेकिन इनसे इस व्यवस्था को खत्म करने का रास्ता जरूर साफ हो जाएगा।

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने लद्दाख में बलिदान देने वाले लांस नायक सलीम खान के परिवार को 50 लाख रुपये की आर्थिक मदद और परिवार के एक सदस्य को नौकरी दिए जाने की घोषणा की है। 23 वर्षीय लांस नायक सलीम खान को श्रद्धांजलि देते हुए कैप्टन ने कहा कि पंजाब सरकार उनके परिवार की हरसंभव मदद करेगी।

यूनिवर्सिटी और कॉलेजों में परीक्षाएं रद करने के बारे में पूछे गए एक सवाल पर कैप्टन ने कहा कि यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर जल्द ही शिक्षा विभाग से विचार करेंगे। यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन से इस संबंध में निर्देश मांगे जाएंगे। अगले दो-तीन दिन में इस बारे में अंतिम फैसला ले लिया जाएगा। स्कूलों में विद्यार्थियों को ऑनलाइन कक्षाओं से गर्मियों की छुट्टियां देने की एक लुधियाना निवासी की मांग पर कैप्टन ने कहा कि स्कूलों में कोरोना की वजह से खराब हुए समय को पहले ही गर्मियों की छुट्टियों में एडजस्ट किया जा चुका है। अब और छुट्टियां नहीं दी जा सकतीं।