दिल्ली में कैब ड्राइवर और उसके साथी द्वारा एक महिला को अगवा कर ग्रेटर नोएडा ले जाकर उसके साथ लूटपाट और गैंगरेप करने का आरोप लगा है। 29 वर्षीय महिला ने इस घटना की शिकायत पुलिस थाने में दर्ज करा दी है। महिला द्वारा पुलिस में दर्ज कराई गई शिकायत के अनुसार पीड़िता ने मंगलवार आधीरात को हौज खास के पास अंसल प्लाजा से रोहिणी जाने के लिए कैब ली थी। पीड़िता ने बताया कि कैब ड्राइवर ने उसे पहले रोहिणी छोड़ने के बजाए धौला कुआं से एक व्यक्ति को और अपनी कैब में बिठा लिया। इसके बाद आरोपी कैब

दिल्ली में प्रदूषण और स्मॉग के चलते ट्रकों की एंट्री के अलावा निर्माण कार्यों पर लगा प्रतिबंध हटा लिया गया है.  खबरों के अनुसार पर्यावरण प्रदूषण नियंत्रण प्रधिकरण ने गुरुवार को निर्देश जारी करते हुए ट्रकों के प्रवेश पर लगे प्रतिबंध के अलावा राजधानी में होने वाले निर्माण कार्यों और पार्किंग पर लगाए जा रहे चार गुना शुल्क को भी वापिस ले लिया है. बता दें कि प्रदूषण के चलते दिल्ली में 9 नवंबर की रात से ही ट्रकों की एंट्री बंद कर दी गई थी. यह प्रतिबंध दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल द्वारा ली गई उस बैठक में लगाया गया

दिल्ली के खान मार्केट की उपलब्धि में एक और खूबी जुड़ गई है. खान मार्केट भारत की पहली और दुनिया की 24वीं सबसे महंगी जगह है. इसके पहले 2016 की लिस्ट में खान मार्केट को 28 वां स्थान मिला था. कुशमैन एंड वेकफील्ड की रिपोर्ट के अनुसार यहां दुकान का किराया 1,250 रुपए प्रति वर्गफुट है. वहीं एशिया में खान मार्केट इस मामले में 11वें स्थान पर है. इस सूची में न्यूयॉर्क का अपर फिफ्थ एवेन्यू पहले स्थान पर कायम है. वहीं हॉन्ग कॉन्ग का कॉजवे बे दूसरे और लंदन का बॉन्ड स्ट्रीट तीसरे स्थान पर हैं. इस सर्वे में 66

दिल्ली-एनसीआर में जानलेवा एयर पॉल्यूशन के मद्देनजर यहां दो साल पहले ही दुनिया का सबसे सख्त वाहन उत्सर्जन मानक लागू कर दिया जाएगा। केंद्र सरकार ने बुधवार को कहा है कि दिल्ली में भारत स्टेज बीएस-6 मानक को लागू करने की तारीख को 1 अप्रैल, 2020 से घटाकर 1 अप्रैल, 2018 कर दिया गया है। मौजूदा समय में देश में बीएस-4 मानक वाले वाहनों का इस्तेमाल हो रहा है। क्या है बीएस6 बीएस यानी भारत स्टेज उत्सर्जन मानक है, जिसे वर्ष केंद्र सरकार ने 2000 में शुरू किया था। इसका उद्देश्य चार पहिया वाहनों से निकलने वाले प्रदूषण को नियंत्रित करना और

 नई दिल्लीवैष्णो देवी के बाद नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) अमरनाथ यात्रा पर सख्त हुई है। एनजीटी ने अमरनाथ मंदिर के आसपास पर्यावरण सुरक्षा और श्रद्धालुओं की सुविधा को लेकर अमरनाथ श्राइन बोर्ड को फटकार लगाई है। एनजीटी ने पूछा कि 2012 में सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिए गए आदेशों का अबतक पालन क्यों नहीं किया गया है। नारियल फेंकने पर भी एनजीटी को ऐतराज बुधवार को अमरनाथ यात्रा पर सुनवाई करते हुए एनजीटी ने अमरनाथ श्राइन बोर्ड से कहा कि गुफा के पूरे इलाके को साइलेंट जोन घोषित किया जाए। इसके साथ ही गुफा के आसपास पूजा के रुप में चढ़ाए जाने वाली

भारत पर एक शीर्ष आर्थिक विशेषज्ञ केनेथ जस्टर ने भारत में अमेरिकी राजदूत के तौर पर शपथ ली. इवांका ट्रंप के इस माह के अंत में होने वाले भारत दौरे की तैयारी करने के लिए 62 वर्षीय जस्टर के जल्द भारत पहुंचने की संभावना है. उप राष्ट्रपति माइक पेंस ने उन्हें शपथ दिलाने के बाद ट्वीट किया, 'मुबारक, केन जेस्टर, भारत में अमेरिका के नए राजदूत.' पेंस ने कहा कि भारत और अमेरिका के बीच संबंध और गहरे हुए हैं और राष्ट्रपति तथा मुझे उनके नेतृत्व, ईमानदारी एवं अनुभव पर विश्वास है. केन एक मजबूत साझेदारी कायम करेंगे जो हमारे देश और

दिल्ली सरकार द्वारा ऑड-ईवन पर लगी शर्तों को लेकर एनजीटी में लगाई रिव्यू पिटिशन राज्य सरकार ने वापिस ले ली है. पिटिशन पर सुनवाई करते हुए एनजीटी ने सरकार को जमकर फटकार लगाई. और कहा कि वो अगली बार ऑड-ईवन से राहत के लिए तार्किक स्पष्टिकरण लेकर आए. बता दे कि नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल के शनिवार के फैसले के खिलाफ सोमवार को दिल्‍ली सरकार ने पुनर्विचार याचिका दाखिल की थी. इस याचिका में दिल्‍ली सरकार ने महिलाओं और दो पहिया वाहनों को छूट देने की मांग की थी. शनिवार को एनजीटी ने ऑड-ईवन के दौरान महिलाओं और दो पहिया वाहनों को छूट देने

दिवाली के बाद प्रदूषण और पिछले एक सप्ताह से स्मॉग के चलते भीषण जहरीली हवा में जी रहे दिल्ली-एनसीआर के लोगों को जल्द ही इससे राहत मिलने वाली है। अगले 24 घंटे में बारिश से स्मॉग खत्म हो जाएगा और हवा में प्रदूषण का स्तर भी घटेगा। बताया जा रहा है कि पिछले 1 हफ्ते से कोहरे और कुहासे से परेशान रहे दिल्ली वालों के लिए यह वेस्टर्न डिस्टरबेंस साफ हवा की सौगात लेकर आ रहा है। इसकी वजह से दिल्ली-एनसीआर में हवाएं शुरू हो चुकी हैं। इसका नजारा मंगलवार सुबह देखने को भी मिला। जानकारी आ रही है कि अगले

दिल्ली NCR ने बढ़ते प्रदूषण का संकट अभी तक बरकरार है और यह जहरीली हवा बिना समाधान निकले अब दूसरे हफ्ते में प्रवेश कर गई है. पंजाब, हरियाणा में पराली जलाने का क्रम अभी भी जारी है, पराली जलाने के कारण दिल्ली की हवा में प्रदूषण की मात्रा में बढ़ोतरी दर्ज हुई है. आपको बता दें कि हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने सीएम अरविंद केजरीवाल को चिट्ठी लिखकर पराली जलाने के मुद्दे पर राजनीति करने के आरोप लगाये थे. जबकि पिछले दिनों केजरीवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पंजाब और हरियाणा के मुख्यमंत्रियों से मिलने के लिए बैठक आयोजित करने की बात

दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार के साथ दिल्ली, यूपी, पंजाब और हरियाणा सरकार को नोटिस जारी किया है। शीर्ष कोर्ट ने पराली जलाने और सड़कों की धूल से होने वाले प्रदूषण पर अंकुश के निर्देश देने के लिए इन सभी सरकारों से मांगा जवाब मांगा है। चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति ए़ एम़ खानलिवकर और न्यायमूर्ति डी़ वाई़ चन्द्रचूड़ की पीठ ने वकील आऱ के़ कपूर की ओर से दी गई अर्जी को स्वीकार करते हुए यह फैसला किया। कपूर ने अपने आवेदन में कहा है कि सड़कों पर उड़ रही धूल, दिल्ली के पड़ोसी