जम्मू-कश्मीर के हंदवाड़ा में रविवार को सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ में एक आतंकी मारा गया है। बताया जा रहा है कि आतंकियों की संख्या 3 हो सकती है। खबरों के मुताबिक ये सभी आतंकी लश्कर से ताल्लुक रखने वाले हो सकते हैं। बता दें कि पिछले हफ्ते ही दक्षिण कश्मीर के कुलगाम में आतंकियों ने सुरक्षाबलों को निशाना बनाया था। पुलवामा के लित्तर इलाके में साथी आतंकियों के मारे जाने बाद बौखलाए आतंकियों ने कुलगाम में पुलिस कर्मियों के वाहन पर हमला किया था।   J&K: 1 terrorist killed in an encounter with Security forces in Handwara's Hajin, operation

आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत ने कश्मीर के चोटी कांड पर शनिवार को कहा कि ऐसी घटनाओं के बहाने कुछ लोग आर्मी और आम जनता को टारगेट कर रहे हैं। ये देश के बाकी शहरों में भी हो चुका है और उसकी सच्चाई सामने आ चुकी है। लेकिन अब जो यहां हो रहा है, वह आतंकियों के फ्रस्ट्रेशन को दिखाता है। कश्मीर में पुलिस अपना काम कर रही है। बता दें कि घाटी में बीते दो महीने में चोटी काटने की 100 से ज्यादा घटनाओं की अफवाह उड़ी। साथ ही, मारपीट की भी कई घटनाएं सामने आईं। इसके विरोध में

जम्मू-कश्मीर  के डीजीपी शेष पॉल वैद्य ने जानकारी दी कि, इस साल चलाए गए पुलिस के सुरक्षा अभियान में अब तक 160 आतंकी मौत के घाट उतारे गए हैं। मगर उन्होंने साफ किया है कि राज्य को राजनीतिक इच्छाशक्ति की जरूरत है। बतौर डीजीपी राज्य के बेरोजगार युवकों पर समाज के आपराधिक एवं खतरनाक लोगों की नजर है, इसलिए केन्द्र सरकार को सकारात्मक कदम उठाते हुए कश्मीरी युवकों को रोजगार देने की दिशा में सख्त कदम उठाने चाहिए। उन्होंने कहा, “इस बात में कोई संदेह नहीं है कि राज्य को दृढ़ राजनैतिक इच्छाशक्ति की जरूरत है। अगर यह उठाया जा रहा

आज पूरा देश दिवाली का पर्व मना रहा है. हर तरफ जश्न का माहौल है. इस मौके पर देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों को दिवाली की बधाई दी हैं. वहीं पीएम मोदी जवानों के साथ दिवाली मनाने एलओसी पर जम्मू-कश्मीर के गुरेज सेक्टर पहुंचे. यहां उन्होंने जवानों के साथ दो घंटे बिताए और उनके साथ दिवाली मनाई. पीएम मोदी ने जवानों को मिठाई खिलाकर दिवाली मनाई. पीएम ने जवानों को संबोधित करते हुए कहा, 'सभी की तरह मैं भी परिवार के साथ दिवाली मनाना चाहता हूं और सभी जवान मेरे परिवार की तरह हैं'. प्रधानमंत्री ने

जम्मू-कश्मीर में पाकिस्तान ने मेंढर और बालाकोट ने एक बार फिर सीजफायर तोड़ा है. मेंढर सेक्टर में पाक की ओर से भारी गोलीबारी की है और रिहायशी इलाकों में पाक सेना ने मोर्टार दागे हैं. पाक के इस हमले में एक नागरिक के घायल होने की खबर है. वहीं सुरक्षाबल पाकिस्तान की इस फायरिंग का मुंहतोड़ जवाब दे रहे हैं.

जम्मू एवं कश्मीर में आतंकियों के खिलाफ अभियान में सुरक्षा बलों को एक बार फिर से बड़ी कामयाबी मिली है. पुलवामा में सुरक्षा बलों ने खूंखार आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के कमांडर वसीम अहमद शाह और आतंकी निसार अहमद मीर को मार गिराया. शनिवार सुबह से ही सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ जारी है. इससे पहले सुरक्षा बलों ने लश्कर-ए-तैय्यबा के कमांडर समेत 3 आतंकियों को घेर लिया. फिलहाल दोनों ओर से भारी गोलीबारी जारी है. इससे पहले बुधवार को जम्मू-कश्मीर के बांदीपुरा जिले में हुए मुठभेड़ में सुरक्षा बलों ने आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादियों को मार गिराया

पाकिस्तान अपने नापाक इरादों से बाज नहीं आ रहा है. पाकिस्तान की ओर से एक बार फिर जम्मू-कश्मीर के पुंछ सेक्टर के कृष्णा घाटी इलाके में सीजफायर उल्लघंन कर रहा है. पाकिस्तान भारी मोर्टार सेल का इस्तेमाल कर गोलाबारी कर रहा है. पाकिस्तान की तरफ से हो रही फायरिंग में अब तक जान-माल की हानि नहीं हुई है. बता दें कि गुरुवार को पाकिस्तान के द्वारा किए गए सीजफायर उल्लघंन में एक जवान और एक पोर्टर की मौत हो गई. साथ ही 5 जवान घायल हो गए थे. पाकिस्तान लगातार सीजफायर उल्लंघन कर रहा है. गुरुवार को भी पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर

जम्मू-कश्मीर सरकार के लिए उस समय शर्मनाक स्थिति पैदा हो गई जब एक अलगाववादी नेता की फोटो बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अभियान के पोस्टर में लग गई। इस पोस्टर में भारत की पूर्व पीएम इंदिरा गांधी, लता मंगेशकर और सीएम महबूबा मुफ्ती के साथ अलगाववादी नेता आसिया अंद्राबी की फोटो लगा दी गई है। आसिया अंद्राबी फिलहाल जेल में बंद हैं। पोस्टर का उद्देश्य उपलब्धियां हासिल करने वाली देश की महिलाओं को दिखाना है। इसे दक्षिण कश्मीर के कोकरनाग इलाके में बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए आयोजित एक समारोह में लगाया गया था। अंद्राबी पाकिस्तान समर्थक दुख्तरान-ए-मिल्लत संगठन की

उत्तरी कश्मीर में बांदीपोरा जिले के हाजिन इलाके में सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच आज सुबह से हुई. मुठभेड़ में सेना के दो जवान शहीद हो गए. वहीं जवानों ने दो आतंकियों को ढेर कर दिया है.  आतंकी लश्कर-ए-तैयबा के बताए जा रहे हैं. यह मुठभेड़ बांदीपोरा के हाजिन इलाके में हो रही है. इस ऑपरेशन को सीआरपीएफ, 13 RR की टीमें अंजाम दे रही हैं. जम्मू-कश्मीर पुलिस को हाजिन इलाके में आतंकियों के छिपे होने की खबर मिली जिसके बाद मंगलवार देर रात को जवानों ने पूरे इलाके को घेर लिया. जिसके बाद आतंकियों ने सेना पर फायरिंग

बडगाम में आतंकियों द्वारा घात लगाकर किए गए हमले में सेना का एक जेसीओ राजकुमार शहीद हो गया। लेकिन हमलावर आतंकी भागने में कामयाब रहे। उन्हें पकडऩे के लिए सुरक्षाबलों ने एक विशेष अभियान चला रखा है। शहीद जेसीओ जम्मू कश्मीर के साथ सटे हिमाचल प्रदेश के खन्नी गांव के रहने वाले थे। वर्ष 1990 में सेना मे भर्ती हुए शहीद राजकुमार के परिवार में अब उनकी पत्नी तोशी देवी और दो पुत्र रह गए हैं। अंतिम श्रद्घांजली के बाद शहीद का पार्थिव शरीर पूरे सैन्य सम्मान के साथ उनके परिवार के पास भेज दिया गया है। यहां मिली जानकारी के अनुसार,