शोपियां पुलिस ने शुक्रवार को लेफ्टिनेंट फयाज की हत्‍या में शामिल तीन आतंकियों में से तीन आतंकियों के पोस्‍टर को जारी कर दिया। सुरक्षा एजेंसियों ने लेफ्टिनेंट उमर फयाज की हत्या करने वाले आतंकियों की पहचान कर ली है। रक्षा सूत्रों के मुताबिक, ये आतंकी लश्कर-ए-तैयबा और हिज्बुल मुजाहिद्दीन के हैं। सुरक्षा एजेंसियों ने इन आतंकियों के जल्द ही पकड़ जाने का दावा किया है। https://twitter.com/ANI_news/status/862912390500831232    

पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर में एक  बार फिर सीजफायर का उल्लंघन किया है। पाक सेना ने अरनिया सेक्टर में गोलीबारी की है। बीएसएफ ने भी पाकिस्तान की गोलीबारी का मुंहतोड़ जवाब दिया है। गोलीबारी में सेना के एक जवान के घायल होने की खबर है। इससे पहले कल भी पाकिस्तान ने नौशेरा में सीजफायर का उल्लंघन किया था। नौशेरा में पाकिस्तान की गोलीबारी में एक स्थानीय महिला की जान चली गयी थी जबकि दो लोग घायल हुए थे।

पाकिस्तान ने एक बार फिर सीजफायर का उल्लंघन करते हुए भारतीय इलाके में गोलीबारी की है। जानकारी के मुताबिक,  नौशेरा में देर रात बारह बजे से रुक रुक कर गोलीबारी हो रही है। इस गोलीबारी में एक स्थानीय महिला की मौत हो गई है और एक व्यक्ति गंभीर रूप से घायल है। भारतीय सेना पाकिस्तानी गोलीबारी का मुंहतोड़ जवाब दे रही है।

जम्मू कश्मीर के शोपियां जिले में सेना के एक लेफ्टिनेंट का गोलियों से छलनी शव मिला है. खबर के मुताबिक दक्षिण कश्मीर के शोपियां जिले के हरमन से ये शव बरामद हुआ है. सेना के लेफ्टिनेंट की पहचान उमर फयाज के तौर पर हुई जो कुलगाम के रहने वाले हैं. बताया जा रहा है कुलगाम से लेफ्टिनेंट को अगवा किया गया जिसके बाद अब शोपियां जिले की हरमेन चौक से उनका शव मिला है. पुलिस इस मामले की जांच-पड़ताल में जुट गई है. उमर फयाज़ के शरीर पर गोलियों के निशान भी हैं. उमर फयाज़ पैरी शोपियां के ही रहने वाले

भारतीय फौज ने पाकिस्तान को करारा जवाब दिया है. जम्मू के नौशेरा सेक्टर में एलओसी के पार पाकिस्तान के बंकर उड़ाए गए हैं. भारतीय जवानों ने एलओसी के उस पार बने पाकिस्तानी बंकरों पर हमला कर उन्हें ध्वस्त कर दिया. बताया जा रहा है कि पाकिस्तान की तरफ पहले सीजफायर का उल्लंघन किया गया था. जिसके बाद भारतीय सेना ने पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब दिया. इस जवाबी कार्रवाई में भारत ने सीमा पर बने पाकिस्तानी बंकरों को निशाना बनाया. बताया जा रहा है कि भारतीय फौज ने पाकिस्तान के कई बंकरों को निशाना बनाते हुए उन्हें नेस्तनाबूद कर दिया. जानकारी है कि

सरकार ने अमरनाथ यात्रा से पहले कश्मीर में अमन बहाल करने की केंद्र की योजना पर अमल शुरू कर दिया है। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह की मंत्रणा के बाद तय किए फार्मूले के तहत अलगाववादियों को अलग-थलग कर आतंकियों के सफाए की रणनीति बनाई गई है। मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती और केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ के बीच इस फार्मूले पर विस्तृत चर्चा हो चुकी है। फार्मूले के तहत रियासत सरकार को पुलिस और प्रशासन में मौजूद उपद्रवियों के संरक्षकों पर भी सख्त कार्रवाई करनी है। महबूबा ने अलगाववादियों और उपद्रवियों के हमदर्द अफसरों पर कार्रवाई का

दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले में देर रात पुलिस दल पर हुए आतंकवादी हमले में  एक पुलिसकर्मी शहीद हो गया। मीर बाजार में हुए इस हमले में दो सिविलियन्स की भी जान चली गई। वहीं सुरक्षाबलों ने मोर्चा संभलाते हुए एक आतंकवादी को ढेर कर दिया। जानकारी के मतुबिक, मारा गया आतंकी फैयाज अहमद उर्फ सेठा था जोकि लश्कर-ए-तय्यबा से ताल्लुक रखता था और उसपर दो लाख रुपए का ईनाम भी घोषित था। उधमपुर आतंकी हमला मामले में एनआईए ने उसके खिलाफ आरोपपत्र भी दायर किया हुआ है। वो अगस्त 2015 से ही लापता था। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, जवाबी कार्रवाई किए जाने से

सेना ने जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा के पास से 12 वर्षीय एक लड़के को गिरफ्तार किया है. वह पाक के कब्जे वाले कश्मीर का निवासी है और नियंत्रण रेखा पार कर भारतीय क्षेत्र में दाखिल हो गया था. सेना को आशंका है कि पाकिस्तानी सेना के साथ मिलकर आतंकवादियों ने उसे सेना के गश्त लगाने वाले मार्ग और घुसपैठ के रास्तों का पता लगाने के लिए यहां भेजा है. रक्षा प्रवक्ता ने कहा, ''नियंत्रण रेखा (एलओसी) के पास भारतीय सेना के गश्ती दल ने 12 वर्षीय एक बच्चे को गिरफ्तार किया है जो कल शाम एलओसी पार

जम्मू एवं कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने कहा कि हमको दलदल से कोई अगर बाहर निकाल सकता है, तो वह पीएम मोदी हैं. वह जो फैसला करेंगे, मुल्क सपोर्ट करेगा. महबूबा ने कहा कि पहले वाले पीएम भी पाकिस्तान जाना चाहते, पर जुर्रत नहीं की. पीएम मोदी लाहौर गए, यह ताकत की निशानी है. घाटी में बिगड़े हालात के मद्देनजर जम्मू एवं कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा का यह बयान सामने आया है. उन्होंने कहा कि अगर कश्मीर के हालात ज्यादा बिगड़ते हैं, तो जम्मू और लद्दाक में भी इसका असर होगा. महिलाओं के एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने

जम्मू-कश्मीर के डोडा जिले में गुरुवार को आए एवलांच में पांच लोगों की मौत हो गई। कई लोग घायल हैं। शुरुआती जानकारी के मुताबिक, एवलांच भदरवाह-बाशौली हाईवे पर आया। भदरवाह से वानी जा रही एक मिनी बस एवलांच की चपेट में आ गई और 1500 फीट गहरी खाई में जा गिरी। रास्ता खोलने की कोशिश - न्यूज एजेंसी के मुताबिक, घटना गुरुवार सुबह करीब 9 बजे हुई। अचानक आए इस एवलांच में भदरवाह-बाशौली हाईवे सबसे ज्यादा प्रभावित हुआ। ये इलाका डोडा जिले में आता है। - एक मिनी बस भदरवाह से वानी जा रही थी। वो इस एवलांच की चपेट में आ गई।