जम्मू राष्ट्रगान का सम्मान न करने पर पुलिस ने यहां दो कश्मीरी युवकों को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने कहा कि दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग जिले में रहने वाले जावेद अहमद तीली और उत्तरी कश्मीर के हंदवारा के रहने वाले मुदासिर अहमद के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है. जम्मू के नरवाल इलाके में सिनेमा हॉल में फिल्म शुरू होने से पहले राष्ट्रगान बजने पर दोनों युवकों ने खड़ा होने से मना कर दिया था. दोनों को यहां अदालत से जमानत दे दी गई. पुलिस ने कहा, 'नारवाल पुलिस चौकी में दोनों युवकों के खिलाफ राष्ट्रीय सम्मान अधिनियम, 1971 की धारा 2/3

श्रीनगर सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच जम्‍मू-कश्‍मीर के कुलगाम जिले में जारी मुठभेड़ में चार आतंकी ढेर हो गए हैं. 3 जवान भी शहीद हुए हैं और दो अन्‍य घायल हो गए हैं. बताया जा रहा है कि आज तड़के यह एनकाउंटर शुरू हुआ था. जिले के यारीपोरा-फ्रीजाल क्षेत्र में अभी भी दोनों पक्षों के बीच गोलीबारी जारी है. इस आतंकी हमले में एक स्‍थानीय नागरिक भी मारा गया. दरअसल, सेना को बीती रात पुलिस ने आतंकियों के बारे में सूचना दी थी. उसके बाद सेना ने क्षेत्र के एक गांव को घेर रखा है. यह इलाका श्रीनगर से 60 किमी दूर

जम्मू कश्मीर में पंडितों और सैनिकों के लिए अलग कॉलोनी के बनाने को लेकर चल रही अटकल बाजियों पर विराम लग गया. केंद्र सरकार ने संसद को जानकारी दिया है कि जम्मू कश्मीर में कश्मीरी पंडितों और सैनिकों के लिए अलग से कॉलोनी बनाने का कोई प्रस्ताव नहीं है. केंद्रीय गृह राज्य मंत्री हंसराज गंगाराम अहीर ने कांग्रेस के अश्विनी कुमार द्वारा पूछे गए एक सवाल का लोकसभा में जवाब देते हुए कहा कि ऐसा कोई प्रस्ताव नहीं है. उन्होंने आगे कहा कि राज्य में सेपरेट सैनिक और पंडित कॉलोनी बनाने का कोई भी प्रस्ताव नहीं है. सरकार का नहीं है कॉलोनी

दिल्ली पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (POK) में स्थित जमीन के लिए भारतीय सेना ने लाखों का किराया भरा है. इस मामले में सीबीआई ने एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. सीबीआई की प्राथमिकी के अनुसार वर्ष 2000 में उपसंभागीय रक्षा संपदा अधिकारी और नौशेरा के पटवारी ने कई निजी व्यक्तियों के साथ मिलकर कथित रूप से साजिश रची थी. सीबीआई ने आरोप लगाया, संबंधित जमीन के साल 1969-70 जमाबंदी रजिस्टर और खसरा नंबर के मुताबिक यह जमीन पाकिस्तान (पीओके) के कब्जे में है. बावजूद इसके रक्षा संपदा विभाग उसके कथित मालिक को किराया दे रहा था. जांच में यह सामने

जम्मू जम्मू कश्मीर में एक बार फिर से हो रही भारी बारिश के कारण शनिवार देर रात को जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग घाटी जाने वाले वाहनों के लिए बंद कर दिया गया है. घाटी की और जाने वाले सभी छोटे-बड़े वाहनों को जखैनी, संगूर, फ्लाटा और बट्टलमोड़ में रोक दिया गया है. हाईवे पर कुल ढाई हजार के करीब वाहन फंसे हुए हैं. डोडा, किश्तवाड़ जाने वाली गाड़ियों को भी जाने की अनुमति नहीं दी जा रही है. राज्य में फिर से बारिश व बर्फबारी होते ही जम्मू-श्रीनगर हाईवे बंद होने का सिलसिला फिर से शुरू हो गया है. कई जगहों पर पस्सियां गिरने

इस्लामाबाद पाकिस्तान ने एक बार फिर कश्मीर राग अलापा है। इस बार पाकिस्तान के पीएम नवाज शरीफ और वहां की सेना ने एक साथ भारत के खिलाफ आग उगली। नवाज ने बंटवारे का जिक्र छेड़ते हुए कश्मीर को भारत और पाकिस्तान विभाजन का अधूरा अजेंडा करार दिया। वहीं पाकिस्तानी सेना ने भी कश्मीर की जनता के साथ एकजुटता दिखाने के लिए एक विडियो और गीत को जारी किया। यह गाना पाक सेना की मीडिया विंग इंटर-सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस (ISPR) ने सोशल मीडिया पर जारी किया है। यह गीत पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (PoK) में मनाए जाने वाले 'कश्मीर दिवस' के मौके पर

सीआरपीएफ प्रवक्ता राजेश यादव ने बताया कि कुछ दिनों के भीतर सीआरपीएफ की ओर से आवाम की सहायता के लिए एक हेल्पलाइन ‘मददगार’ शुरू होने जा रही है। यह हेल्पलाइन हफ्ते के 7 दिन 24 घंटे काम करेगी और जिस किसी को भी कोई सहायता की जरूरत है, उसे केवल 14411 नंबर डायल करना होगा। यादव ने बताया कि सीआरपीएफ द्वारा सरकारी विभागों, अस्पतालों, बैंकों आदि जैसे कई अन्य चीजों का एक डाटा बेस तैयार किया है। उन्हें जब भी कोई कॉल मिलेगी तो उनके कंट्रोल रूम द्वारा नजदीकी यूनिट को सूचित किया जाएगा। अगर वह सहायता नहीं पहुंचा सकते तो

बारामुला जम्मू-कश्मीर के बारामुला में पुलिस और सुरक्षाकर्मियों ने दो आतंकियों को मार गिराया. मुठभेड़ में पुलिस के दो अधिकारी भी घायल हो गए. मुठभेड़ उस समय शुरू हुई यह जब आतंकवादी एक गाड़ी में जा रहे थे. जैसे ही वह सोपोर के अमरगढ़ क्षेत्र में पहुंचे तो वहां पर मौजूद पुलिस ने उन्हें रोकना चाहा लेकिन आतंकियों ने गाड़ी से गोलीबारी शुरू कर दी और वहां से भाग गए. जम्मू कश्मीर पुलिस के स्पेशल आपरेशन ग्रुप और सेना की संयुक्त पार्टी ने आतंकियों पर जवाबी गोलीबारी की. इसमें दो आतंकवादी मारे गए. मारे गए आतंकवादियों की पहचान हंदवाड़ा के परवेज अहमद

जम्मू रियासत में पंचायत चुनाव की कवायद तेज हो गई है. मार्च में प्रस्तावित चुनाव को लेकर सरकारी मशीनरी की तैयारियां युद्धस्तर पर जारी हैं. इस बार सभी पंचायत हलके का नए सिरे से परिसीमन किया जा रहा है. इसके तहत हलके में आने वाले पंच क्षेत्रों को सम (इवन) संख्या के स्थान पर विषम (ऑड) किया जाएगा. यानी किसी पंचायत हलके में छह पंच क्षेत्र होंगे तो उसे सात, आठ पंच क्षेत्र को नौ और 10 पंच क्षेत्र को 11 किया जाएगा. इस कवायद में इस बात का ख्याल रखा जाएगा कि कम से कम पंच क्षेत्र को बदला जाए. ताजा आदेश

श्रीनगर श्रीनगर में सेना और सरकार की सहायता न मिलने के कारण भारतीय सेना का एक जवान अपनी मां का शव 10 फुट गहरी बर्फ़ में घंटों तक ऊंची चढ़ाई चढ़कर अपने घर ले जा सका. मोहम्मद अब्बास खान नाम के इस जवान की मां की मौत पठानकोट में 28 जनवरी को हो गई थी. बेटे की इच्छा थी कि वह अपनी मां का शव अपने गांव LOC के करीब कश्मीर के करनाह में दफनाए. अब्बास अगले दिन पठानकोट से गाड़ी के ज़रिए पहले जम्मू और फिर वहां से श्रीनगर पहुंचे. यहां उन्होंने सेना से हेलीकॉप्टर की गुज़ारिश की. लेकिन उन्हें मदद