उड़ी में हुए आतंकी हमले के तार पाकिस्तान से जुड़ते दिख रहे हैं । आतंकी हमले के बाद सेना द्वारा चलाए गये सर्च आपरेशन में जो सबूत मिले हैं उनसे हमले की साजिश से जुड़े कई तार पाकिस्तान से जुड़ते दिख रहे हैं । सेना के डीजीएमओ रणबीर सिंह ने प्रेस कांफ्रेंस के दौरान बताया कि हमले में बरामद सामानों में 4 एके 47 राइफल मिली हैं । साथ ही 4 ग्रेनेड लांचर समेत भारी मात्रा में कारतूस बरामद हुए हैं सेना को आतंकियों के पास से जो जीपीएस मिला है उसकी शुरूआती लोकेशन पाकिस्तान में मिली है ।

मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने राज्यपाल एनएन वोहरा से मुलाकात कर राज्य के राजनीतिक हालात पर चर्चा की। लगभग एक घंटे तक दोनों के बीच हुई मुलाकात को लेकर सियासी चर्चाएं तेज हो गईं हैं। कयास लगाए जा रहे हैं कि यदि हालात जल्द न सुधरे तो राज्यपाल शासन लग सकता है। हालांकि, पीएमओ में राज्य मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने इन अटकलों को सिरे से खारिज किया है। घाटी में हिंसा की वजह से चुनौतीपूर्ण बने हालात से लेकर शांति बहाली के तमाम उपायों और विभिन्न पहलुओं पर दोनों के बीच बातचीत हुई।

घाटी में जारी हिंसक प्रदर्शनों के बीच एक और युवक की मौत हो गयी है । लगातार जारी हिंसक प्रदर्शनों के बीच श्रीनगर समेत घाटी के सभी जिलों मे कर्फ्यू लगाया गया है । प्राप्त जानकारी के अनुसार घाटी में शुक्रवार को हुए हिंसक प्रदर्शनों के दौरान घायल हुआ मोमिन अल्ताफ गनई श्रीनगर के हरवान का रहने वाला था । मोमिन सुरक्षाबलों के खिलाफ हुए इस प्रदर्शन के दौरान घायल हुआ था और उसके बाद से ही लापता था । पुलिस अधिकारियों के मुताबिक मोमिन के पैलेट गन से घायल होने के बाद बीती रात श्रीनगर में ही उसका शव बरामद हुआ

जम्मू में मादक पदार्थों की तस्करी के बढ़ते मामलों के निपटारे के लिए फास्ट ट्रैक कोर्ट का गठन किया गया है। अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायालय को फास्ट ट्रैक का दर्जा देकर नारकोटिक्स के मामलों की जल्द सुनवाई की जा रही है। आरोेपियों को जल्द सजा हो, इसके लिए न्यायपालिका गंभीर है। जम्मू में मादक पदार्थों के तस्करों का जाल बढ़ गया है। कश्मीर से लेकर जम्म्रू दिल्ली, मुंबई, दुबई आदि क्षेत्रों में मादक पदार्थों की सप्लाई हो रही है। पुलिस ने आपरेशन संजीवनी के तहत अगस्त महीने तक 137 मामले दर्ज किए हैं। कोर्ट में इन सभी मामलों की सुनवाई

1965 में हुए भारत-पाक युद्ध को द्वितीय विश्व युद्ध के बाद के सबसे बड़े टैंक युद्घ के तौर पर जाना जाता है । रक्षा विशेषज्ञों के अनुसार 1965 की लड़ाई के दौरान पाकिस्तान की सेना भारतीय सेना से ज्यादा बेहतर स्थिति में थी । पाकिस्तान की सेना को रक्षा की तकनीक में अमेरिका का साथ मिला हुआ था । पाक सेना के पास शक्तिशाली पैटन टैंक थे, जिसकी वजह से वह रक्षा तकनीकी के मामले में भारतीय सेना से ज्यादा शक्तिशाली थी । पाकिस्तान की इस तकनीक के जवाब में भारत के पास द्वितीय विश्वयुद्ध के टैंको का दस्ता था लेकिन तमाम

जेलों में कैदियों के बीच बढ़ते लड़ाई-झगड़े जेल विभाग के लिए परेशानी का सबब बन गए हैं। काउंसलिंग के बावजूद कई कैदियों के व्यवहार में सुधार नहीं हो रहा। इसलिए विभाग अब ऐसे कैदियों को छोटी जेलों में शिफ्ट करने का मन बना रहा है। पिछले एक साल में तीन बार कैदियों के आपस में भिड़ने की घटनाएं हो चुकी हैं। इसमें घायल होकर कैदी अस्पताल तक पहुंचे हैं। ऐसे भी छिटपुट घटनाएं जेलों में बढ़ रही हैं। विभाग काउंसलिंग को भी बढ़ाने की सोच रहा है। कोट भलवाल जेल के सुपरिंटेंडेंट दिनेश कुमार का कहना है कि मनोचिकित्सकों से कैदियों की

शुक्रवार सुबह घर में चूल्हा जलाते समय भड़की आग की चपेट में आने से एक नाबालिग झुलस गया। उसे बचाने का प्रयास करते नाबालिग का पिता भी आग की चपेट में आ गया। इससे वह भी झुलस गया। बताया जाता है कि सुबह मंगु राम चूल्हे को जलाने के लिए केरोसिन तेल का प्रयोग करने के लिए दीये का इस्तेमाल किया। इसी दौरान आग के बीच तेल के ज्यादा गिर जाने के बाद आग भड़क उठी और वह चपेट में आ गया। उसका पिता बिट्टू राम उसे बचाने का प्रयास किया, लेकिन वह खुद भी झुलस गया। दोनाें को प्राथमिक उपचार के

श्रीनगर के सांसद तारिक हमीद कर्रा के इस्तीफे से उठे बवंडर के बीच पीडीपी डैमेज कंट्रोल में जुट गई है। पार्टी के असंतुष्टों पर नजर रखने का जिम्मा महबूबा ने अपने सिपहसालारों को सौंपा है। सभी प्रमुख नेताओं तथा विश्वासपात्रों को श्रीनगर में कैंप करने को कहा गया है। शिक्षा मंत्री और राज्य सरकार के प्रवक्ता नईम अख्तर जो जम्मू में थे, उन्हें भी श्रीनगर बुला लिया गया है। शुक्रवार को उनका यहां रहने का कार्यक्रम था, लेकिन, संदेश मिलने के बाद वे दोपहर बाद श्रीनगर चले गए।

क्या ऐसा संभव है कि शरीर के किसी भी हिस्से में गोली लगे और पता न चले, लेकिन एक दिलचस्प मामला जम्मू के ज्यौड़ियां कसबे में सामने आया है। कसबे के एक शख्स के पैर में एके-47 की गोली लगी और उसे पता ही नहीं चला, हालांकि बाद में डॉक्टरों ने ऑपरेशन कर उसको निकल दिया। ज्यौड़ियां के रहने वाले जंग बहादुर का कहना है कि मंगलवार को वह घर के सामने सो रहा था। जब वो सुबह उठा तो उसे पैर में कुछ दर्द महसूस हुआ। जिसके बाद जंग बहादुर डॉक्टर के पास पहुंचा।

फिल्मी अंदाज में एक व्यक्ति ने छत से छलांग लगाई और घायल होकर अस्पताल पहुंचा गया। यहां से वह बिना किसी को बताए भाग गया। घटना बुधवार दोपहर करीब दो बजे रेजीडेंसी रोड की है। बताया जाता है कि एक व्यक्ति का अपनी पत्नी के साथ झगड़ा हो गया। कुछ देर में झगड़ा इतना बढ़ गया कि वह अपने घर से भागकर रेजीडेंसी रोड पहुंचा। जहां कुछ देर बाद वो एक इमारत पर चढ़ गया। लोग कुछ समझ पाते इससे पहले ही उसने इमारत से छलांग लगा दी।