पंजाब के पूर्व डीजीपी कंवर पाल सिंह गिल का शुक्रवार को 82 साल की उम्र में निधन हो गया. उन्होंने दिल्ली के गंगाराम अस्पताल में ली अंतिम सांस. बताया जा रहा है कि उन्हें किडनी में दिक्कत की वजह से अस्पताल में भर्ती कराया गया था, वो काफी लंबे समय से दिल्ली के गंगाराम अस्पताल में भर्ती थे, जहां शुक्रवार को किडनी फेल होने से उनका निधन हो गया. कल रविवार को उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा. पंजाब और हरियाणा के मुख्यमंत्री समेत अन्य राजनीतिक दलों और अन्य क्षेत्रों के लोगों ने गिल के निधन पर शोक व्यक्त किया है. वहीं असम

दिल्ली पंजाब के पूर्व डीजीपी कंवर पाल सिंह गिल का शुक्रवार को 82 साल की उम्र में निधन हो गया. उन्होंने दिल्ली के गंगाराम अस्पताल में ली अंतिम सांस. बताया जा रहा है कि उन्हें किडनी में दिक्कत की वजह से अस्पताल में भर्ती कराया गया था, वो काफी लंबे समय से दिल्ली के गंगाराम अस्पताल में भर्ती थे, जहां शुक्रवार को किडनी फेल होने से उनका निधन हो गया. गिल का जन्म 1934 में लुधियाना में हुआ था. 1958 में उन्होंने भारतीय पुलिस सेवा ज्वाइन की. शुरुआती दिनों में गिल की पोस्टिंग असम राज्य में थी, जहां उन्होंने 28 साल बिताए. इसके बाद

पठानकोट के मोहल्ला खान इलाके में ठगों ने एक महिला को अपनी ठगी का शिकार बना लिया. तीन शातिर ठगों ने संत और उसके भक्त बनकर योजनाबद्ध तरीके से महिला को झांसा देकर उसके सोने के जेवरातों पर हाथ साफ कर दिया. संत बनकर आए एक ठग ने महिला को जेवरातों दोगुने करने का झांसा दिया और अपने साथियों की मदद से इस ठगी को अंजाम देकर फरार हो गए. ठगी की ये वारदात सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है. पुलिस सीसीटीवी फुटेज से ठगों की पहचान करने की कोशिश कर रही है. https://youtu.be/KL_wzizE9AY  

पंजाब के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह आज अमृतसर का दौरा करेंगे. आपको बता दें इस दौरान वह शहर में चल रहे विकास कार्यों का भी जायजा लेंगे. इसके अलावा नवजोत सिंह सिद्धू पार्टी पार्टी कार्यकर्ताओं से भी मुलाकात करेंगे.      

पंजाब में रेत खनन को लेकर राजनीति गरमाने लगी है. बीजेपी ने कैबिनेट मंत्री राणा गुरजीत सिंह के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए उनपर अपने नजदिकियों को अवैध तरीके से खनन देने का आरोप लगाया है. जिसके बाद शिरोमणि अकाली दल और आम आदमी पार्टी ने भी उनके इस्तीफे की मांग की है. वहीं,कांग्रेस इस मुद्दे पर बचाव की मुद्रा में आ गई है. कैबिनेट मंत्री राणा गुरजीत सिंह ने सफाई दी है कि पंजाब में माइनिंग कारोबार से उनके किसी मुलाजिम का कोई लेना-देना नहीं है. वह या उनकी कंपनी राणा शुगर्स लिमिटेड का माइनिंग व्यवसाय से प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप

खालिस्तान आतंकियों की तरफ से मिली धमकियों पर पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि केंद्र से सुरक्षा मांगने और बढ़ाने का सवाल ही पैदा नहीं होता. सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि वो ऐसी धमकियों से डरने वाले नहीं है और वो पंजाब के लोगों की भलाई के लिए काम करते रहेंगे. सीएम ने कहा कि आतंकी संगठन पंजाब की शांति को भंग करने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन उन्हें मंसूबों में कामयाब नहीं होने दिया जाएगा. सीएम ने केंद्र सरकार की तरफ से दी गई जेड प्लस सिक्योरिटी लेने से इनकार

अमृतसर पाकिस्तान में बंदूक की नोक पर जबरन शादी की शिकार हुई भारतीय महिला उज्मा अहमद भारत लौट आई हैं. इस्लामाबाद हाई कोर्ट से मिले इजाजत के बाद उज्मा गुरुवार की सुबह अटारी-वाघा बॉर्डर के जरिए भारत लौटीं. भारतीय सीमा में प्रवेश करने से पहले उज्मा ने धरती को छूकर प्रणाम किया. https://twitter.com/ANI_news/status/867624598275211264 उज्मा के भारत लौटने के बाद विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्वीट कर कहा कि भारत की बेटी का घर में स्वागत है, तुम्हारे साथ जो भी हुआ उसके लिए मुझे खेद है. https://twitter.com/SushmaSwaraj/status/867611568124645376 उज्मा के भाई वसीम अहमद ने बहन की वतन वापसी पर खुशी जताई और कहा कि मामले में

फिरोजपुर में पूर्व पार्षद पर जानलेवा हमला करने का मामला सामने आया है।  सतपाल चौधरी यहां से तीन बार पार्षद रह चुके हैं। जानकारी के मुताबिक, पांच हमलावरों ने सतपाल चौधरी की आंखों में मिर्च डालकर तेजधार हथियारों से उनपर हमला कर दिया। इस हमले में सतपाल चौधरी गंभीर रूप से घायल हो गए। घायल पूर्व पार्षद को सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया है। फिलहाल पुलिस हमलावरों का सुराग जुटा रही है, अभी तक इस मामले में किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। आपको बता दें कि सतपाल चौधरी तीन बार कांग्रेस के पार्षद रह चुके हैं।

पंजाब में निवेश के नाम पर करोड़ों रुपए की ठगी करने के मामले में बरनाला पुलिस ने अमृतसर में क्राउन कंपनी के आफिस में छापेमारी की और उसके आफिस को सील कर दिया। दरअसल, इस कंपनी ने पंजाब के लोगों को ज्यादा ब्याज का लालच देकर  प्रदेश के बाहर की कंपनियों में निवेश करवा दिया और इस तरह इन्होंने करोड़ों की ठगी कर ली। इनके खिलाफ बरनाला में कई मामले दर्ज किए गए हैं, इन मामलों में कार्रवाई करते हुए पुलिस ने अब इनका ऑफिस सील कर दिया है।

एक ओर जहां पंजाब स्कूल एजुकेशन बोर्ड PSEB 10वीं क्लास के नतीजे घोषित खराब आने के बाद मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने नाराजगी जाहिर की है और साथ ही उन्होंने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए शिक्षा मंत्री को शिक्षा का स्तर ऊंचा उठाने के लिए प्रारूप तैयार करने की सख्त हिदायत दी गई है तो दूसरी ओर सवालों के घेरे में पंजाब शिक्षा बोर्ड आ गया है. शिक्षा बोर्ड की मुश्किलें बढ़ाता तरनतारन के खेमकरण से एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है दरअसल यहां एक कन्या हाईस्कूल के दसवीं के नतीजे चौंकाने वाले है. इस स्कूल में 64 छात्राओं ने