क्रिस गेल ने सरवन मामले में मांगी माफी, ये था पूरा मामला

0
132
views

वेस्टइंडीज के सलामी बल्लेबाज क्रिस गेल ने कहा है कि अपनी पूर्व कैरिबियन प्रीमियर लीग फ्रेंचाइजी जमैका तालावाज से निकाले जाने के बाद दिए गए अपने बयान पर वह अभी भी कायम हैं. गेल ने हालांकि स्वीकार किया कि जमैका तालावाज के खिलाफ दिया गया उनका कोरोनावायरस से भी बदतर वाला बयान हानिकारक था.

जमैका तालावाज ने 2020 सीजन के लिए गेल को रिटेन नहीं किया था. इसके बाद गेल ने तालावाज के सहायक कोच सरवन को कोरोना वायरस से भी बुरा करार दिया था और कहा कि सरवन सांप की तरह है. गेल ने सरवन पर आरोप लगाया था कि सरवन ने उन्हें सीपीएल की टीम जमैका तलावाज से बाहर करने की साजिश रची थी. सीपीएल की वेबसाइट ने शुक्रवार को गेल का आधिकारिक बयान जारी किया.

सलामी बल्लेबाज ने कहा, जहां तक मेरी नाराजगी का सवाल है मैं अब भी अपने बयान पर कायम हूं. मैंने जो भी बोला दिल से बोला था. उन्होंने हालांकि स्वीकार किया कि इस तरह के बयान क्रिकेट वेस्टइंडीज की छवि और सीपीएल के ब्रांड को भी नुकसान पहुंचा सकते थे.

गेल ने कहा, इस टी 20 टूर्नामेंट को नुकसान पहुंचाना मेरा मकसद नहीं था. सीपीएल ने मुझे पिछले सात साल से यह मौका दिया है कि मैं अपने कैरिबियाई फैन्स के सामने क्रिकेट खेल सकूं. ये मेरे लिए बेहद सम्मान की बात है और मैं कभी इसे हल्के में नहीं ले सकता हूं.