एक साथ चुनाव कराने के पक्ष में हरियाणा सरकार, कहा- इससे देश और राज्यों को होगा लाभ

0
392
views

अगले साल लोकसभा चुनाव के साथ ही कई राज्यों के चुनाव कराने की खबरों के बीच हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने अपनी सहमति जताई है. सीएम मनोहर लाल का कहना है कि एक राष्ट्र और एक चुनाव के फैसले से देश और राज्यों को बहुत लाभ होगा. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार इसके लिए तैयार है. सभी विपक्षी दल इस मुद्दे पर मिलकर फैंसला लें.

रोहतक के बोहर गांव में सीएम मनोहर लाल ने कहा कि पूरे देश में एक साथ चुनाव होने से बहुत फायदा होगा और पूरे देश की एनर्जी बचेगी. उन्होंने कहा कि हर चुनाव के लिए अलग-अलग व्यवस्थाएं करनी पड़ती है, बार-बार चुनाव आचार संहिता लगानी पड़ती है. सीएम मनोहर लाल ने कहा कि हरियाणा सरकार एक साथ चुनाव के पक्ष में है, लेकिन यह वैधानिक फैसला है. सभी विपक्षी दलों को इस पर बातचीत कर फैसला लेना होगा.

बता दें कि 2019 लोकसभा चुनावों के साथ करीब 11 राज्यों में विधानसभा चुनाव कराए जा सकते हैं. ये वे राज्य होंगे, जहां अगले साल चुनाव होने हैं. सूत्रों के अनुसार, चुनाव आयोग और अधिकांश दल एक साथ चुनाव कराए जाने के समर्थन में हैं, ऐसे में अगले साल लोकसभा चुनावों से इसकी शुरुआत हो सकती है. इसके लिए जो फार्मूला तैयार किया गया है उसके अनुसार लोकसभा चुनावों के साथ ओडिशा, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना के चुनाव तो होने ही हैं. अन्य कुछ राज्य भी शामिल हो सकते हैं.

इस साल के आखिर में चार राज्यों मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान और मिजोरम के चुनाव होने हैं, उनमें कुछ की विधानसभा अवधि फरवरी 2019 तक है, ऐसे में वहां पर दो-चार महीने का राष्ट्रपति शासन लगाया जा सकता है. लोकसभा चुनावों के बाद हरियाणा, महाराष्ट्र, झारखंड के विधानसभा चुनाव होने हैं. इन राज्यों में बीजेपी की सरकारें हैं और वे पहले चुनाव करा सकती हैं. जम्मू-कश्मीर में राज्यपाल शासन है और वहां भी अगले साल चुनाव संभावित हैं. इस तरह लोकसभा के साथ अप्रैल मई में कम से कम 11 राज्यों के चुनाव हो सकते हैं.