PM मोदी के रोजगार मॉडल पर राहुल गांधी का तंज, कहा- ‘नाले में पाइप लगाओ, पकौड़े बनाओ’

0
117
views

आगामी लोकसभा चुनाव की तैयारियों के मद्देनजर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज कर्नाटक के बीदर जिले में एक रैली को संबोधित किया. इस दौरान राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी के ‘नाले की गैस से चाय वाले’ किस्से पर तंज कसा. राहुल गांधी ने कहा, ‘नाले में पाइप लगाओ और ढाबे पर पकौड़े बनाओ. ये है नरेंद्र मोदी जी की युवाओं को रोजगार देने की रणनीति.’

राहुल गांधी ने कहा कि मोदी जी नाले से निकली गैस से युवाओं को रोजगार देने की रणनीति बता रहे हैं. पीएम मोदी पर तंज कसते हुए राहुल ने कहा कि दो करोड़ युवाओं को रोजगार देने का वादा करने वाले अब कह रहे हैं कि आप पकौड़े बनाओ, हम गैस नहीं देंगे.

रैली को संबोधित करते हुए राहुल ने आरोप लगाया कि पीएम मोदी हिंदुस्तान के प्रधानमंत्री नहीं हैं, बल्कि सिर्फ 15-20 सबसे बड़े लोगों के प्रधानमंत्री हैं. राहुल गांधी ने कहा कि पीएम मोदी के विजन में पूरा फायदा 15-20 लोगों को है. देश के युवाओं को पकौड़े बनाना है. अगर गैस चाहिए तो नाले में से पाइप निकाल के पकौड़े बनाओ.

रैली को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने किसानों के मुद्दे पर भी मोदी सरकार को घेरा. राहुल गांधी ने कहा, ‘पीएम मोदी जी किसानों का कर्जा माफ नहीं कर सकते हैं. बड़े-बड़े भाषण करेंगे. मैं मोदी जी को चुनौती देता हूं कि कर्नाटक की सरकार ने किसानों का कर्जा माफ किया, उसका आधा कर्जा हिंदुस्तान के किसानों का कर के दिखा दें.’

उन्होंने कहा कि मोदी जी एमएसपी बढ़ाने की बात करते हैं और कहते हैं पूरे देश में 10 हजार करोड़ रुपये एमएसपी बढ़ाई. उससे तीन गुना ज्यादा कर्नाटका की सरकार ने कर्जा माफी करके दिखाई. राहुल ने कहा कि पूरे देश में किसान आत्महत्या करते हैं, लेकिन प्रधानमंत्री जी को इससे कोई फर्क नहीं पड़ता.

कर्नाटक के बीदर में रैली के दौरान राहुल गांधी ने पीएम को राफेल डील पर बहस करने की चुनौती दी. राहुल गांधी ने कहा, ‘फ्रांस के राष्ट्रपति ने मुझे बताया कि राफेल हवाई जहाज का दाम गुप्त डील में नहीं आता है. यदि भारत सरकार चाहे तो वो दाम बता सकती है. चौकीदार अब भागीदार है. मोदी जी ने आपका पैसा चोरी करके अनिल अंबानी को दिया है. प्रधानमंत्री के साथ फ्रांस के डेलिगेशन में अनिल अंबानी जी थे. मोदी जी ने युवाओं से रोजगार छीन कर अनिल अंबानी को दिया.’

बता दें कि 10 अगस्त को प्रधानमंत्री मोदी ने विश्व बायोफ्यूल-डे पर आयोजित एक कार्यक्रम में एक चाय वाले का किस्सा सुनाया था. उन्होंने बताया था, ‘किसी शहर में एक शख्स ठेले पर चाय बनाता था. वहीं से एक गंदा नाला बहता था. उसने एक छोटे से बर्तन को उल्टा करके नाले पर रख दिया और गटर से जो गैस निकलती थी, उसे अपने ठेले में ले लिया और उसी से वह चाय बना लेता था.’