Coronavirus: ममता बनर्जी का केंद्र सरकार पर पलटवार, कहा राज्य को जान बूझकर बदनाम करने का प्रयास

0
195
views

पश्चिम बंगाल में कोविड-19 की स्थिति का आकलन करने गई केन्द्रीय टीमों के साथ सहयोग न करने के आरोपों के बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार को पलवाटर करते हुए केन्द्र सरकार पर निशाना साधा. ममता ने कहा कि राज्य को जान बूझकर बदनाम करने का प्रयास किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि बेबुनियाद खबरें प्रसारित की जा रही है कि पश्चिम बंगाल में कोरोना वायरस को लेकर कुछ ही लोगों की जांच की जा रही है.

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र ने कोरोना वायरस से निपटने की तैयारी को लेकर बंगाल को भाषण सुनाया लेकिन जांच के लिए समुचित किट नहीं दी. राज्य के मुख्य सचिव ने कहा कि बंगाल को जो 10 हजार रैपिट टेस्ट किट्स दी गईं थीं वे गड़बड़ थीं. रैपिट किट्स से 220 जांच की गई. सिर्फ समय की बर्बादी हुई.

आरएनए एक्सट्रैक्टर और वीटीएम की सप्लाई बहुत कम होने के चलते जांच नहीं की जा सकती है. पश्चिम बंगाल के स्वास्थ्य विभाग ने कहा कि भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान संस्थान की तरफ से तीन तरह के कोविड-19 टेस्ट किट्स की सप्लाई की जाती है और उसका वर्तमान में बंगाल में स्थिति ये है. आईसीएमआर की एडवाइजरी के अनुसार, रैपिट टेस्ट किट्स ठीक से काम नहीं कर पाने की वजह उसे वापस लिया जा रहा है. NIECD के साथ 21 अप्रैल को हुई बातचीत के बाद BGI RT PCR किट्स वापस ली जा रही हैं.

इसके बाद आईसीएमआर की सिफारिश पर कोविड-19 का टेस्ट करने के लिए पश्चिम बंगाल के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के पास 0 किट है. हालांकि, राज्य के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग ने यह आश्वस्त किया कि इस स्थिति से निपटने के लिए सभी संभावित कदम उठाए जाएंगे.