Coronavirus: पंजाब स्वास्थ्य मंत्री का फैसला, निजी अस्पतालों और लैब द्वारा भेजे गए सैंपलों की जांच होगी मुफ्त

0
124
views

कोरोना के मरीजों का समय पर पता लगाने के लिए बड़े स्तर पर स्क्रीनिंग किए जाने के फैसले के मद्देनजर पंजाब सरकार ने सूचीबद्ध अस्पतालों, क्लीनिकों और लैबोरेटरियों द्वारा भेजे कोविड-19 के नमूनों की मुफ़्त आरटी-पीसीआर टेस्टिंग करवाने का फैसला लिया है. यह जानकारी स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू ने दी.

मंत्री ने कहा कि सिविल सर्जनों को उन निजी अस्पतालों, क्लीनिकों और लैबों को सूचीबद्ध करने की हिदायतें जारी की गई हैं, जो नमूनों की मुफ्त टेस्टिंग सुविधा देने के लिए स्वेच्छा से सूचीबद्ध होने को तैयार हैं. उन्होंने कहा कि निजी अस्पताल, क्लीनिकों और लैबोरेटरियों के पास कोविड-19 के संदिग्ध मरीजों के लिए अलग जगह होनी चाहिए, जहां नमूने लिए जाएंगे और नमूना लेने वाले व्यक्ति की तरफ से पूरे निजी सुरक्षा उपकरण पहने होना यकीनी बनाया जाएगा.

सिद्धू ने बताया कि इस सुविधा का लाभ ले रहे निजी अस्पताल और क्लीनिक नमूने एकत्रित करने के लिए मरीजों से 1000 रुपये से अधिक नहीं चार्ज करेंगे. उन्होंने कहा कि निजी अस्पताल,  क्लीनिक आईसीएमआर के मापदंडों के अनुसार मरीजों का चयन करेंगे, जिसके अंतर्गत लक्षण पाए जाने वाले अंतरराष्ट्रीय या घरेलू यात्री, लैब द्वारा पुष्टि किए गए कोविड -19 मरीज के संपर्क, कंटेनमेंट जोनों, हॉटस्पॉट से आने वाले व्यक्ति, जिनमें लक्षण पाए गए हैं, कोविड-19 मरीज के उच्च जोखिम वाले संपर्क, जिनमें लक्षण नहीं पाए गए, लक्षण न पाए जाने वाले, लक्षण पाए जाने वाले फ्रंट लाइन पर काम कर रहे कर्मचारी और लक्षण पाए जाने वाले प्रवासी व्यक्ति या वापिस लौटने वाले व्यक्ति शामिल हैं.