Coronavirus: सुप्रीम कोर्ट ने कहा, मुफ्त में हो कोविड-19 का टेस्ट, सरकार करे इंतजाम

0
201
views

देश में कोरोना वायरस की मुफ्त जांच को लेकर दायर की गई याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को सुनवाई की. इस दौरान कोर्ट ने कहा की कोरोना की जांच निशुल्क होनी चाहिए. वहीं, कोरोना जांच के लिए निजी लैब द्वारा लिए जा रहे 4500 रूपये को कोर्ट ने गलत बताते हुए का कहा की वह मनमानी नहीं कर सकते. सुप्रीम कोर्ट ने मामले को समझने के बाद केंद्र सरकार को सुझाव दिया कि निजी लैबों में कोरोना वायरस की जांच फ्री में होनी चाहिए. कोर्ट ने आगे कहा कि वह इस संबंध में एक उचित आदेश पारित करेगा.

इस पर सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि सरकार इस मामले को देखेगी और जो भी इसमें अच्छा किया जा सकता है उसे विकसित करने की कोशिश करेगी. इस दौरान तुषार मेहता ने बताया कि अभी 118 लैब प्रति दिन 15000 टेस्ट क्षमता के साथ काम कर रहे हैं. अब हम 47 प्राइवेट लैब को भी टेस्ट की इजाजत देने वाले हैं. उन्होंने कहा कि यह एक विकासशील स्थिति है. हमें नहीं पता कि कितने लैब की जरूरत होगी और कब तक लॉकडाउन जारी रहेगा.

कोर्ट ने कोरोना टेस्ट और उसके रोकथाम में लगे डॉक्टरों और मेडिकल स्टाफ की सुरक्षा पर कहा कि ये लोग योद्धा हैं और उनकी और उनके परिवार के लोगों की सुरक्षा बेहद जरूरी है. बता दें कि अधिवक्ता शशांक देव सुधी ने यह याचिका दायर की है. इसमें अनुरोध किया गया है कि केन्द्र और संबंधित प्राधिकारियों को कोविड-19 की जांच की मुफ्त सुविधा उपलब्ध कराने का निर्देश दिया जाए.