PTU महाघोटाला : कोर्ट ने आरोपी रजनीश अरोड़ा को 25 जनवरी तक न्यायिक हिरासत में भेजा

0
81
views

विजीलेंस विभाग की तरफ से भ्रष्टाचार के आरोपों के तहत गिरफ़्तार किए गए PTU के पूर्व उप कुलपति रजनीश अरोड़ा को अदालत ने 25 जनवरी तक ज्यूडीशियल रिमांड पर भेज दिया है.  विजीलेंस विभाग की तरफ से आज रजनीश अरोड़ा को पुलिस रिमांड ख़त्म होने के बाद अदालत में पेश किया गया था, जहां अदालत ने रजनीश को न्यायिक हिरासत में भेज दिया है.

कर्मचारियों व अधिकारियों की नौकरी पर खतरे की तलवार
बताया जा रहा है कि एक तरफ जहां डा. रजनीश अरोड़ा की गिरफ्तारी के मामले में  PTU के प्रशासनिक तंत्र में जबरदस्त खलबली मच गई है. वहीं इस पूरे प्रकरण में आने वाले दिनों में होने वाली जांच के दौरान यूनिवर्सिटी से संबंधित कई ऐसे कर्मचारियों और अधिकारियों की नौकरी पर खतरे की तलवार लटक सकती है, जिनकी नियुक्ति राजनीतिक सिफारिश या ऊंची पहुंच के बल पर किए जाने की चर्चाएं अक्सर सामने आती रही हैं.

विजीलेंस ने मांगा था 10 दिन का पुलिस रिमांड
इस पूरे मामले में तेजी से जांच प्रक्रिया में जुड़ी विजीलेंस ब्यूरो कपूरथला की टीम ने ACJM मनप्रीत कौर से 10 दिनों के पुलिस रिमांड की मांग करते हुए इस पूरे फर्जीवाड़े को काफी बड़ा बताया था तथा और भी कई सनसनीखेज खुलासे सामने आने की संभावना व्यक्त की थी, जिसके दौरान अदालत ने आरोपी डा. रजनीश अरोड़ा को 4 दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया.