DTC दूसरे राज्यों के लिए भी चलाएगा बसें

0
160
views

दिल्ली सरकार अपनी बसों को दूसरे राज्यों में भी चलाने की तैयारी कर रहा है, परिवहन विभाग एग्रीमेंट की अनिवार्यता को लागू करने पर गंभीरता से विचार कर रहा है. दिल्ली सरकार इस प्रयास में है कि जब दूसरे राज्यों की डीजल बसें दिल्ली में प्रवेश कर रही हैं तो उसी आधार पर उसकी डीजल की बसों को भी अंतरराज्यीय रूटों पर अनुमति मिले.

  • सरकार की योजना के तहत दिल्ली परिवहन निगम (DTC) की बसों को भी चंडीगढ़, जयपुर, देहरादून और लखनऊ जैसे प्रमुख शहरों से जोड़ा जाएगा.
  • परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत की अध्यक्षता में इसे लेकर कई दौर की बैठकें हो चुकी हैं
  • फिलहाल DTC के बसें दिल्ली से सटे हरियाणा के गुरुग्राम, फरीदाबाद, बहादुरगढ़ और उत्तर प्रदेश के नोएडा और गाजियाबाद तक ही चल रही हैं
  • लेकिन, दूसरे राज्यों से बड़ी संख्या में आ रही बसों को देखते हुए अब DTC भी प्रमुख शहरों के बीच अपनी बसें चलाएगी.
  • दिल्ली को दूसरे राज्यों के प्रमुख शहरों से जोड़ने के लिए परिवहन विभाग दिल्ली हाईकोर्ट से अंतरराज्यीय रूटों पर डीजल से बसों को चलाने की मंजूरी मांगेगा.
  • CNG पंप की कमी की वजह से अंतरराज्यीय रूटों पर CNG वाली बसों को चलाने में परेशानी बढ़ सकती है.

बाहरी राज्यों की बसों का होगा एग्रीमेंट

  • बाहरी राज्यों से दिल्ली आने वाली रोडवेज की बसों के लिए वर्तमान में कोई एग्रीमेंट नहीं है
  • मनमानी संख्या में बसें दिल्ली आती हैं, लेकिन एग्रीमेंट की अनिवार्यता लागू होने पर परमिट पर काउंटर साइन भी करना होगा
  • इससे बाहरी राज्यों से आने वाली बसों की संख्या को भी निर्धारित करने में मदद मिलेगी.
  • हजारों की संख्या में आ रही बसें दिल्ली में तीन अंतरराज्यीय बस अड्डे हैं
  • इनमें कश्मीरी गेट, सरायकाले खां और आनंद विहार शामिल हैं. तीनों बस अड्डों को मिला लें तो उत्तर प्रदेश, हरियाणा और राजस्थान आदि की हजारों की संख्या में डीजल की बसें आ रही हैं
  • जबकि DTC की बसें NCR को छोडृकर दूसरे राज्यों में जाने की सेवा ठप हो चुकी है
  • DTCके बेड़े में साल 2004 के बाद से CNG चालित बसों का परिचालन शुरू हुआ, धीरे-धीरे डीजल बसें कम होती गईं

दिल्ली के बाहर उस समय CNG की उपलब्धता नहीं थी, CNG पंप उपलब्ध नहीं होने पर NCR के आगे के अंतरराज्यीय रूट को बंद कर दिया गया. अब जयपुर, शिमला, देहरादून, लखनऊ, आगरा, हरिद्वार, मेरठ और चंडीगढ़ जैसे प्रमुख शहरों के बीच बसें चलाने की योजना है.