प्लाट आवंटन मामले में ED पहुंचा हाई कोर्ट, AJL और मोती लाल वोरा को नोटिस

0
44
views

पंचकूला में एसोसिएट जर्नल लिमिटेड को अलॉट किए गए प्लॉट को प्रवर्तन निदेशालय द्वारा अटैच करने पर यथास्थिति बनाए रखने के अपीलीय अधिकरण, दिल्ली के आदेश को हाईकोर्ट में चुनौती दी गई है, ED की याचिका पर हाईकोर्ट ने AJL और वरिष्ठ कांग्रेस नेता मोती लाल बोरा को नोटिस जारी कर पूछा है कि क्यों न अपीलीय अधिकरण के आदेश पर रोक लगा दी जाए.

 

बता दें, ED के अपीलीय अधिकरण ने 4 जून को AJL को आवंटित प्लाट पर यथास्थिति बनाए रखने के आदेश दिए थे. इस आदेश के खिलाफ ED की ओर से याचिका दाखिल करते हुए कहा गया कि 1982 में हरियाणा के तत्कालीन मुख्यमंत्री भजनलाल ने हरियाणा अर्बन डेवलपमेंट अथारिटी (संक्षेप में जो हुडा कहा जाता था. अब इसका नाम हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण है) का प्लाट AJL को आवंटित किया था. 10 साल तक यहां कोई निर्माण नहीं हुआ तो हुडा ने प्लाट वापस ले लिया.

 

2005 में भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने 1982 की कीमत पर ही प्लाट AJL को फिर आवंटित कर दिया। इस कारण ED ने 15 जुलाई 2016 को केस दर्ज किया था. भारत सरकार के वकील सत्यपाल जैन ने कोर्ट को बताया कि ED ने गत वर्ष 1 दिसंबर को पंचकूला के इस प्लाट को अटैच करने के अंतरिम आदेश दे दिए थे.