BSNL/MTNL को बंद नहीं करेगी सरकार, कर्मचारियों के लिए आकर्षक VRS पैकेज

0
86
views

नई दिल्‍ली. वित्‍तीय संकट से जूझ रही सरकारी टेलीकॉम कंपनी BSNL के लिए केंद्र सरकार  की तरफ से राहत की खबर आई है.

  • केंद्र सरकार BSNL/MTNL को ना तो बंद करेगी, ना ही इन्हें बेचा जाएगा
  • BSNL और (MTNL) के 15000 करोड़ रुपये के रिवाइवल प्लान को कैबिनेट ने मंजूरी दे दी है.
  • बैठक के बाद केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि BSNL और MTNL को बंद नहीं किया जा रहा है.
  • साथ ही, इसे बेचने का भी कोई प्लान नहीं है.
  • सरकार इसे प्रतिस्पर्धी बनाना चाहती है.
  • इसीलिए 15000 करोड़ रुपये का सॉवरेन बांड बनाया जायेगा.
  • पहले की सरकारों ने BSNL के साथ बहुत नाइंसाफी की है.
  • अगले 4 साल में 38000 करोड़ रुपये को मोनेटाइज करेंगे.

कर्मचारियों के लिए VRS की घोषणा

  • केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि लुभावना VRS पैकेज लेकर आ रहे हैं.
  • कर्मचारी संगठनों ने भी इसकी सराहना की है.
  • अगर किसी कर्मचारी की उम्र 53 साल है तो 60 साल तक उसे 125 फीसदी वेतन मिलेगा.
  • VRS का मतलब है स्वेच्छा से बलपूर्वक नहीं.
  • अन्य टेलिकॉम कंपनियां का खर्चा मानव संसाधन पर केवल 5 फीसदी है, लेकिन इन दोनों कंपनियों का 70 फीसदी है.
  • केंद्रीय मंत्री ने कहा कि BSNL और MTNL का मर्जर होने में कुछ समय लगेगा.
  • तब तक MTNL BSNL की सब्सिडियरी के रूप में काम करेगी.
  • इससे 2 साल बाद BSNL को मुनाफे में लाया जा सकेगा.

दिवाली से पहले मिल सकती है सैलरी

  • कर्मचारियों की सितंबर माह की सैलरी को लेकर BSNL के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्‍टर पीके पुरवर ने कुछ दिन पहले ही कहा था कि दिवाली  से पहले कंपनी अपने संसाधनों के जरिये कर्मचारियों को वेतन देगी.
  • सर्विसेस के जरिए हर महीने कंपनी को 1,600 करोड़ रुपये की आमदनी होती है.
  • वहीं, सैलरी का खर्च 850 करोड़ रुपये है.
  • लेकिन कंपनी का ऑपरेशनल खर्च काफी ज्यादा है.
  • टेलीकॉम कंपनी BSNL को वित्‍त वर्ष 2019 में 13,804 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा हुआ था.