सीएम मनोहर लाल का बड़ा बयान, बोले-राष्ट्रीय स्तर पर होना चाहिए अप्रवासियों का पंजीकरण

0
512
views

राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) के मुद्दे पर देशभर में सियासी बयानबाजी जारी है. इस मुद्दे पर हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने बड़ा बयान दिया है. सीएम मनोहर लाल ने कहा कि केंद्र में इस पर अभी विचार किया जाएगा. उसके बाद राज्य सरकार एक्शन लेगी. उन्होंने कहा कि जो भी केंद्र की तरफ से सभी राज्यों को निर्देश जारी किए जाएंगे उसी के मुताबिक सर्वे कर रजिस्टर किया जाएगा. साथ ही उन्होंने कहा कि ये प्रक्रिया निश्चित रूप से राष्ट्रीय स्तर पर होनी चाहिए.

CM के बयान पर अभय चौटाला का निशाना

हरियाणा सीएम मनोहर लाल के इस बयान नेता विपक्ष अभय चौटाला ने पलटवार किया है. उन्होंने कहा कि सीएम मनोहर लाल को हर बात में अड़ंगा डालने की आदत पड़ी हुई है. अभय चौटाला ने कहा कि इस मामले में हमारे प्रदेश से कोई संबंध नहीं है लेकिन मनोहर लाल ऐसी बयानबाजी होड़ और पीएम मोदी की नाराजगी से बचने के लिए कर रहे हैं.

क्या है एनआरसी मुद्दा

बता दें कि शीर्ष न्यायालय की निगरानी में 30 जुलाई को असम में एनआरसी का दूसरा अंतिम मसौदा जारी किया गया था. इसमें 40 लाख लोगों के नाम शामिल नहीं है, जिसके बाद से काफी विवाद हो रहा है. असम में 3.29 करोड़ आवेदकों में से 2.89 करोड़ लोगों को नागरिकता के लिए योग्य पाया गया, जबकि 40 लाख लोगों का नाम इस लिस्ट में नहीं था.

इस लिस्ट में उन सभी भारतीय नागरिकों को शामिल किया गया, जो राज्य में 25 मार्च, 1971 के पहले से निवास करते थे. अब इस मुद्दे पर विपक्षी दल मोदी सरकार को घेरने में जुटे हैं. हालांकि केंद्र सरकार का कहना है कि जिनका नाम लिस्ट में नहीं है, उन्हें एक बार फिर से दावा पेश करने का मौका दिया जाएगा. जिसके बाद संशोधित लिस्ट जारी की जाएगी.