हरियाणा सरकार ने मुरथल केस की फाइनल रिपोर्ट हाईकोर्ट में सौंपी

जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान कथित गैंगरेप मामले में शुक्रवार को पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट में सुनवाई हुई. हरियाणा सरकार ने इस केस की डायरी और सीलबंद फाइनल रिपोर्ट कोर्ट में सौंप दी है.

हाईकोर्ट ने 19 फरवरी से 22 फरवरी तक आईजी परमजीत अहलावत, एसपी सोनीपत, एसएचओ मुरथल, डीसी, एसडीएम, डीएसपी सोनीपत की काल डिटेल अगली सुनवाई पर कोर्ट मित्र को देने का आदेश दिया. इस मामले की अगली सुनवाई 24 जनवरी को होगी.

पिछली सुनवाई में अदालत ने कहा था कि अगली सुनवाई में सरकार एसआईटी की जांच की पूरी रिपोर्ट भी साथ में पेश करे. इस मामले में हरियाणा पुलिस पर आरोप है कि गैंगरेप के मामले में शुरु से ही जांच का तरीका ठीक नहीं रहा है.

एसआईटी ने इस मामले की जांच के दौरान कहा था कि 573 गवाहों के बयान दर्ज किए गए. सीनियर एडवोकेट अनुपम गुप्ता ने कहा कि उन्हें इन सभी गवाहों के बयान की प्रति दी जाए. पिछली सुनवाई के दौरान हरियाणा सरकार से कोर्ट ने सोनीपत के सभी पुलिस अधिकारियों के मोबाइल कॉल डिटेल्स, केस से जुड़ा पूरा रिकॉर्ड, केस डायरी व गवाहों की स्टेटमेंट सौंपने के निर्देश दिए थे.

Share With:
Rate This Article